May 16, 2022 5:29 pm

शिक्षक दिवस: उत्तराखंड की राज्यपाल और सीएम ने दी शुभकामनाएं, समाज निर्माण मे सबसे अहम है शिक्षकों का किरदार

देहरादून: उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेशवासियों, विशेष रूप से सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। सीएम धामी ने भारत के द्वितीय राष्ट्रपति, प्रख्यात शिक्षाविद भारत रत्न डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में उनके चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न डा सर्वपल्ली राधाकृष्णन को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वह एक महान शिक्षाविद्, दार्शनिक, चिंतक और विचारक थे। राज्यपाल ने कहा कि शिक्षक दिवस हमें अपने शिक्षकों के प्रति कृतज्ञता प्रकट करने का अवसर देता है। देश व समाज के निर्माण में शिक्षकों की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है।

एक आदर्श शिक्षक वह है जो अपने ज्ञान के माध्यम से विद्यार्थियों की क्षमताएं विकसित करने में सहायक हो। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने संदेश में कहा कि हमें अपने गुरुजनों के प्रति श्रद्धा और सम्मान की महान भारतीय परंपरा को और अधिक मजबूत बनाना है। उन्होंने कहा कि वही राष्ट्र आगे बढ़ता है, जहां गुरुजनों का सम्मान होता है। शिक्षक विद्यार्थियों को संस्कारवान बनाकर राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

75 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ जन सम्मानित

केंद्रीय विद्यालय संगठन सेवानिवृत्त कर्मचारी कल्याण संघ ने शनिवार को शिक्षा दिवस की पूर्व संध्या पर 75 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के संगठन सदस्यों को सम्मानित किया। बतौर मुख्यअतिथि केंद्रीय विद्यालय संगठन देहरादून संभाग की उपायुक्त मीनाक्षी जैन ने पूर्व शिक्षक व संगठन के वरिष्ठ सदस्यों को शाल ओढ़ाकर, स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। उन्होंने सम्मानित होने वाले वरिष्ठजनों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व की प्रशंसा की।

कहा कि उनके कार्य संगठन में प्रेरणास्रोत हैं। संगठन के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह राणा ने कहा कि संगठन जो भी उन्नति कर रहा है उसके पीछे इन्हीं वरिष्ठजनों की समर्पित सेवा समाहित है। उन्होंने संगठन के सभी वरिष्ठजनों की दीर्घायु की कामना की। संगठन के वरिष्ठ सदस्य जेएस भंडारी ने प्रथम शिक्षा मंत्री डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णनन के जीवन यात्रा पर प्रकाश डाला। साथ ही देश की शिक्षा में उनके योगदान को याद किया। इस मौके पर संगठन के सदस्य सुनील गुप्ता, बीएस सजवाण, एमएस नेगी, विलय सेंगर आदि मौजूद रहे।