May 21, 2022 11:20 pm

अब तक नहीं पूरी हुई तीर्थ पुरोहितों की मांग: हक-हकूकधारियों ने मुंडन कराकर सरकार के खिलाफ जताया आक्रोश

चमोली: चारधाम यात्रा शुरू करने और देवस्थानम बोर्ड भंग करने की मांग पर बदरीनाथ में चल रहा हक-हकूकधारियों का क्रमिक धरना रविवार को 16वें दिन भी जारी रहा। सरकार की हठधर्मिता को देखते हुए रविवार को साकेत तिराहे पर चल रहे धरनास्थल पर चारधाम तीर्थ पुरोहित हकहकूकधारी महापंचायत के अध्यक्ष कृष्णकांत कोठियाल ने मुंडन करवाकर सरकार के खिलाफ आक्रोश जताया। स्थानीय लोगों ने एलान किया कि जब तक यात्रा का संचालन शुरू नहीं किया जाता आंदोलन जारी रखा जाएगा। इस दौरान सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की गई। बदरीश संघर्ष समिति के अध्यक्ष राजेश मेहता ने कहा कि चारधाम यात्रा का संचालन न होने से यात्रा पड़ावों से लेकर धामों तक लोगों की आजीविका ठप पड़ गई है। सभी पर्यटन स्थल खोल दिए गए हैं, लेकिन चारधाम यात्रा का संचालन रोका गया है, जो गलत है।


वहीं, लाल बाबा आश्रम में मौनी बाबा का आमरण अनशन पांचवें दिन भी जारी रहा। मौनी बाबा ने आक्रोश जताया कि देवस्थानम बोर्ड और सरकार की ओर से उनकी कोई सुध नहीं ली जा रही है। उन्होंने शीघ्र स्थानीय लोगों के साथ ही साधु-संतों को बदरीनाथ धाम के दर्शनों की अनुमति देने की मांग उठाई। इस मौके पर बदरीश संघर्ष समिति के अध्यक्ष राजेश मेहता, मुन्ना लाल टोड़रिया, आलोक मेहता, विनीत पवार, नवनीत मेहता, प्रभात रतूड़ी, सुबोध मेरठवाल, भूपेंद्र शर्मा, जसवीर मेहता, अरविंद पंच पुरी, अभिषेक ध्यानी, बलदेव मेहता, मीना डिमरी, मंदीप भंडारी, अभिषेक पंवार, भानुप्रताप भंडारी, आलोक मेहता और अंशुमान भंडारी के साथ ही कई लोग मौजूद थे।

13 को रुद्रप्रयाग में गरजेंगे केदारनाथ के तीर्थपुरोहित
देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर केदारनाथ में तीर्थपुरोहितों का क्रमिक अनशन 21वें दिन भी जारी रहा। इस दौरान अनशन स्थल से हेलीपैड तक जुलूस भी निकाला गया। प्रदर्शनकारियों ने जल्द ही केदारघाटी के कस्बों में रैली, प्रदर्शन और चक्काजाम के जरिये बोर्ड के विरोध का निर्णय लिया है। केदार सभा के महामंत्री कुबेरनाथ पोस्ती के नेतृत्व में तीर्थपुरोहितों ने अनशन स्थल पर बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर नारेबाजी की। उनका कहना था कि उत्तराखंड सरकार ने चारधाम यात्रा व्यवस्था बदलने की साजिश के तहत बोर्ड का गठन किया है, जो उन्हें मंजूर नहीं है।

जब तक सरकार देवस्थानम बोर्ड को भंग नहीं करती, वे आंदोलनरत रहेंगे। इधर, केदार सभा के अध्यक्ष विनोद शुक्ला व उप मंत्री राजकुमार तिवारी ने ऊखीमठ एसडीएम के माध्यम से डीएम को ज्ञापन भेजा है। इसमें उन्होंने देवस्थानम बोर्ड के विरोध में 13 सितंबर को जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग में प्रदर्शन की बात कही है। उन्होंने कहा कि केदारघाटी के प्रत्येक गांव से तीर्थपुरोहित व हक-हकूकधारी प्रदर्शन में शामिल होकर बोर्ड का विरोध करेंगे। उन्होंने सरकार से हिमाचल की तर्ज पर भू-कानून लागू करने समेत आपदा प्रभावित लोगों की मांगों को पूरा करने की मांग भी की। इस मौके पर आचार्य संतोष त्रिवेदी, साकेत बगवाड़ी, मनोज तिवारी समेत अन्य लोग मौजूद थे।