May 27, 2022 8:25 am

ट्रायल रहा सफल, उत्तराखंड के इस जिले मे शुरू होगी केसर की खेती…

अल्मोड़ा: दुनिया में सबसे महंगे मसालों में से एक केसर का अब जिले के हर ब्लॉक में उत्पादन होगा। इसके लिए विभाग की ओर से कवायद शुरू कर दी गई है। केसर उत्पादन के लिए कश्मीर से पांच कुंतल केसर बल्ब की भी मंगा दिए गए हैं। गौरतलब है, कि उद्यान विभाग काश्तकारों की आय में बढ़ोतरी के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।

वहीं बीते साल से जिले के विभिन्न विकासखंडों में शेर-ए-कश्मीर कृषि विश्वविद्यालय से केसर के बल्ब मंगाकर केसर की उन्नत खेती की जा रही है। कई काश्तकार केसर का उत्पादन कर रहे हैं।  ट्रायल के तौर पर बीते साल शुरू की गई तीन ब्लॉकों में केसर की खेती के सफल प्रयोग के बाद विभाग की ओर से जिले के हर ब्लॉक में केसर उत्पादन की कवायद तेज कर दी गई है। अब जिले के हर ब्लॉक में केसर का उत्पादन किया जाएगा। बकायदा इसके लिए विभाग की ओर से पांच कुंतल केसर बल्ब कश्मीर से मंगाया गया है। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि चार ब्लॉकों में अब तक केसर उत्पादन का प्रयोग सफल रहने पर जिले भर में कृषकों को केसर की व्यावसायिक खेती के लिए भी प्रेरित किया जाएगा।

ट्रायल के तौर पर तीन ब्लॉकों में बीते साल केसर का उत्पादन किया गया। केसर उत्पादन प्रयोग सफल रहने के बाद इस बार जिले के हर ब्लॉक में केसर उत्पादन के लिए तैयारी कर ली गई है। 

टीएन पांडे, मुख्य उद्यान अधिकारी अल्मोड़ा।

आठ काश्तकार जुड़े हैं केसर उत्पादन से 

जिले में अब तक चार ब्लॉकों ताड़ीखेत, हवालबाग और लमगड़ा में किया जा रहा है। बीते साल इन ब्लॉकों में ट्रायल के तौर पर केसर उत्पादन की कवायद शुरू की गई थी, जिसमें से आठ काश्तकार केसर उत्पादन से जुड़े। वहीं विभागीय अधिकारियों ने बताया कि प्रयोग सफल होने के बाद अब जिले के हर 11 ब्लॉकों में केसर उत्पादन किया जाएगा, जिससे की काश्तकारों की आय में भी बढ़ोतरी होगी।