May 21, 2022 2:42 am

पुराने पेड़ को बचाने के लिए गले में रस्सी बांध धरने पर बैठ गया उत्तराखंड का ये बुजुर्ग, पढ़ें पूरा मामला

ऋषिकेश: राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण के लिए ऋषिकेश में काटे जा रहे पुराने पेड़ों को बचाने के लिए एक व्यक्ति ने गले में रस्सी बांधकर धरना शुरू कर दिया। फिलहाल, राष्ट्रीय राजमार्ग खंड और पुलिस की टीम उन्हें समझाने की कोशिश कर रही है। उनका कहना है कि पेड़ों को काटने के बजाय शिफ्ट किया जाना उचित है।

 सेवानिवृत्त बैंक कर्मी हेमंत गुप्ता मंगलवार दोपहर हरिद्वार मार्ग पर पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कॉलेज के बाहर वर्षों पुराने पीपल के पेड़ के नीचे आकर बैठ गए। तब यहां नेशनल हाईवे की टीम पेड़ की लोपिंग करने के लिए पहुंच गई थी। उन्होंने लॉपिंग के लिए लाए गए रस्सों को अपने गले में डाल कर पेड़ के नीचे ही धरना शुरू कर दिया।

हेमंत गुप्ता का कहना था कि वह विकास के खिलाफ नहीं हैं, मगर पेड़ों को काटने के बजाय उन्हें बचाने की कोशिश की जानी चाहिए। उनका कहना था कि यह पेड़ 100 साल से भी अधिक उम्र के हैं, जिन्हें काटा जाना उचित नहीं है। उन्होंने इन पेड़ों को अन्यत्र शिफ्ट करने की मांग की। कहा कि वह पूर्व में ही वन विभाग को इस संबंध में प्रस्ताव दे चुके हैं।

उन्होंने कहा कि अगर पेड़ शिफ्ट किए जाते हैं तो वह स्वयं दस हजार रुपए प्रति पेड़ शिफ्टिंग के लिए देने को तैयार हैं। इसके साथ ही शिफ्ट किए गए पेड़ों के रखरखाव के लिए एक लाख रुपए की एफडी भी वह करने को तैयार हैं। इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग के अभियंता सीपी सिंह ने मौके पर पहुंचकर हेमंत गुप्ता से वार्ता की। फिलहाल, कोई नतीजा नहीं निकल पाया है।