May 16, 2022 5:07 pm

जानलेवा इश्क-  प्रेमिका मांग रही थी 2 चुटकी सिंदूर -प्रेमी ने  नहर में  देकर धक्का कर दिया ज़िन्दगी से दूर

रुड़की: फोटोग्राफर ने ही अपनी प्रेमिका को गंगनहर में धक्का देकर मौत के घाट उतारा था। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से गिफ्ट की गई चेन और उसमें लगा पैंडल बरामद कर लिया। हत्या की वजह यह रही कि रितु उस पर शादी करने का दबाव डाल रही थी। आरोपित पहले से ही शादीशुदा है और उसके चार बच्चे भी हैं।

गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के शास्त्री नगर निवासी रितु तलाकशुदा महिला थी और एलएलबी कर रही थी। एक सितंबर को वह लापता हो गई थी। उसकी स्कूटी पीरबाबा कालोनी के पास गंगनहर किनारे लावारिस हालत में बरामद हुई थी। महिला की मां ने अजय सैनी और बंटी निवासी किशनपुर पर बेटी को गायब करने और उसकी हत्या करने के शक में कोतवाली गंगनहर में मुकदमा दर्ज कराया था।

फोटोग्राफर से पुलिस ने घटना के बाद पूछताछ कर चुकी थी। पुलिस ने रितु के मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर सोमवार की रात फोटोग्राफर अजय को एक बार फिर से हिरासत में लिया। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। गंगनहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि पूछताछ में आरोपित ने बताया कि तीन साल से उसके रितु से प्रेम संबंध थे। रितु पिछले कुछ दिनों से उस पर शादी करने का दबाव डाल रही थी।

आरोपित पहले से ही शादीशुदा था और उसके चार बच्चे हैं। इसके चलते ही उसने शादी से इनकार कर दिया। एक सितंबर को दोनों में झगड़ा भी हुआ था। गुस्से में रितु उसका मोबाइल लेकर अपने घर आ गई थी। यहां पर भी दोनों में खूब झगड़ा हुआ था। शादी का आश्वासन देकर उसने रितू से अपना मोबाइल ले लिया था। अजय ने उससे छुटकारा पाने के लिए हत्या की योजना बना ली।

योजना के मुताबिक एक सितंबर की शाम को ही उसने रितु को मिलरे के लिए पहले कलियर रोड पर बुलाया। यहां से सीधे यह लोग पीरबाबा कालोनी के पास पहुंचे। दोनों गंगनहर की पटरी पर बैठे थे। इसी दौरान आरोपित ने रितु के गले से चेन छीन ली और उसे गंगनहर में धक्का दे दिया। उसकी स्कूटी को वहीं छोड़कर आरोपित वहां से घर आ गया था। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि आरोपित की निशानदेही पर असाफनगर झाल के निकट गंगनहर से रितु का शव बरामद कर लिया। रितु का शव गंगनहर में एक जगह पर अटका हुआ था। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि आरोपित का चालान कर जेल भेज दिया गया।

प्रेमिका की हत्या करने के बाद आरोपित ने पुलिस को चकमा देने का खूब प्रयास किया। हालांकि, रितु की मां को पहले से ही फोटोग्राफर पर शक था। पुलिस को भी वह पूछताछ में चकमा देता रहा, लेकिन पुलिस ने जब कॉल डिटेल खंगाली तो लापता होने से पहले रितु को की गई फोन कॉल्स और शाम को अजय का फोन बंद होने की बात से पुलिस का माथा ठनक गया था। कलियर रोड पर दोनों के फोन की लोकेशन एक जगह की मिली। इसके बाद आरोपित का मोबाइल बंद हो गया। इसी को आधार बनाते हुए पुलिस ने आरोपित को घेर लिया।