May 16, 2022 11:21 am

चारधाम यात्रा के बहाने सरकार पर प्रहार : हरदा के बाद गरजे कोठियाल, बोले हजारों की रोज़ी-रोटी छीन रही है सरकार

देहरादून: कोरोना संकट की वजह से अब तक बंद चार धाम यात्रा को लेकर सरकार, विपक्ष के निशाने पर आ गई है। जहां एक तरफ पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने इस मुद्दे पर सरकार पर तंज कसते हुए कहा की राज्य में सब कुछ खुला हुआ है,  रैलियां हो रही हैं, यात्राएं भी खुली हैं, सत्तारूढ़ दल की जन सभाएं भी हो रही हैं, तो फिर केवल चार धाम यात्रा बंद क्यों ? इसके बाद आम आदमी पार्टी के कदद्वार नेता ने भी उत्तराखंड की धामी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा की चारधाम यात्रा बंद होने से हजारों लोगों का रोजगार छिन चुका है। होटल,टैक्सी,ढाबे,घोडे खच्चर,फोटोग्राफर से लेकर कई तरह के व्यवसाय करने वाले लोग सीधे इससे प्रभावित हुए हैं जिन्हें मुआवजा या राहत राशि देना सरकार की जिम्मेदारी है लेकिन अफसोस कि सरकार घोषणा के बाद किसी को भी राहत देने में नाकाम ही साबित हुई है।

आगे कोठियाल ने धामी सरकार पर हमला बोलते हुव कहा की प्रदेश और लाखों लोगों के रोजगार से जुडी चारधाम यात्रा अभी भी बंद पडी है लेकिन राज्य सरकार इसे खोलने के बजाए हाथ पर हाथ धरे बैठी है। उन्होंने कहा कि यह सरकार जनता विरोधी सरकार है ,जिसे राज्य के विकास और जनता से कोई  सरोकार नहीं है। कर्नल कोठियाल ने कहा कि  करोडों रुपये का व्यवसाय चारधाम यात्रा से जुडा है और प्रदेश की जो जीडीपी है उसका 25 प्रतिशत पर्यटन से अर्जित आय होती है जिसमें ज्यादा हिस्सेदारी चारधाम यात्रा की है। लेकिन सरकार इसके बावजूद भी चारणाम यात्रा को शुरु नहीं कर रही है। उन्होंने आगे कहा कि वहां की सरकार इस यात्रा के लिए गंभीर नही है जबकि यही सरकार अपने राजनीतिक लाभ के लिए पूरे प्रदेश में जन आर्शिवाद यात्रा निकाल रही है ।

कर्नल कोठियाल ने कहा कि उन्होंने पहाडों का दौरा कर कई लोगों से मुलाकात की है, जो बिना यात्रा के बहुत परेशान हैं और रोजगार छिन जाने की वजह से उनके आगे आर्थिक संकट पैदा हो चुका है, कई लोग अपने व्यवसाय को चलाने के लिए कर्ज के बोझ तले डूबे हुए हैं उनके सामने अपनी गाड़ियों की  किश्तें चुकाना और परिवार का भरण पोषण करना सबसे बडी जिम्मेदारी है। आज चारधाम यात्रा खोलने के लिए प्रदेश में जगह जगह प्रदर्शन और नारेबाजी हो रही है लेकिन सरकार की कुंभकर्णी नींद नहीं टूट रही । ये सरकार जनता के सब्र का इम्तिहान अब और ना ले। ये सरकार पूरी तरह निरंकुश हो चुकी है जिसे सिर्फ अपना राजनीतिक फायदा और अपने चहेतों को लाभ पहुंचाना आता है। आप पार्टी सरकार को आगाह करती है अगर जल्द ही चारधाम यात्रा शुरु नहीं की गई तो आप चारधाम यात्रा खोलने तक प्रदेश व्यापी आंदोलन करेगी।