May 21, 2022 1:14 am

हार्दिक पटेल ने ट्वीट मे किया दावा: RSS के सर्वे में कांग्रेस को मिल रही जीत, इसलिए रूपाणी से लिया गया इस्तीफा

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के अचानक इस्तीफे के बाद गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने ट्वीट किया है कि आरएसएस और भाजपा के सर्वे में कांग्रेस जीत रही है। इसलिए गुजरात सीएम से इस्तीफा लिया गया है। उन्होंने बताया कि 15 महीने बाद होने वाले चुनाव में कांग्रेस को 43 प्रतिशत वोट और 96-100 सीटें मिल रही हैं। वहीं भाजपा को 38 प्रतिशत वोट और 80-84 सीट मिल रही हैं। आप को तीन प्रतिशत तो मीम को एक प्रतिशत वोट मिल रहा है।

मुख्यमंत्री रूपानी को बदलने का प्रमुख कारण!!

अगस्त में आरएसएस और भाजपा का गुप्त सर्वे चौंकाने वाला था। कांग्रेस को 43% वोट और 96-100 सीट, भाजपा को 38% वोट और 80-84 सीट, आप को 3% वोट और 0 सीट, मीम को 1% वोट और 0 सीट और सभी निर्दलीय को 15% वोट और 4 सीट मिल रही थी।


हार्दिक बोले-जनता को गुमराह करने के लिए इस्तीफा

हार्दिक पटेल ने एक और ट्वीट किया है। उसमें लिखा है कि सीएम विजय रूपाणी का इस्तीफा जनता को गुमराह करने के लिए है। गुजरात में भाजपा सरकार चलाने में विफल रही है। ऑक्सीजन की कमी, लोगों की मौत, शमशानों की तस्वीरों से जनता नाराज है। उन्होंने आगे लिखा कि असली परिवर्तन अगले वर्ष चुनावों के बाद आएगा, जब जनता भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेकेंगी।

https://twitter.com/HardikPatel_/status/1436708708944285707

सीएम की रेस में चार नाम 

विजय रूपाणी के अचानक से इस्तीफ के बाद गुजरात की सियासत में भूचाल आ गया है। नया सीएम कौन होगा इसको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। फिलहाल नए सीएम की रेस में चार नाम शामिल हैं। इसमें केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, प्रदेश कृषिमंत्री आरसी फाल्दू और पुरुषोत्तम रुपाला का नाम सबसे आगे है।

अचानक इस्तीफे पर उठने लगे सवाल 

गुजरात में 15 महीने बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले अचानक से भाजपा आलाकमान ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से इस्तीफा ले लिया है। इस इस्तीफे के बाद से राज्य में सियासत गर्म हो गई है। दरअसल, आनंदीबेन पटेल के बाद विजय रूपाणी ने सात अगस्त 2016 को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। भाजपा की ओर से उनके इस्तीफे का कोई ठोस कारण भी नहीं बताया गया है। हालांकि, विजय रूपाणी ने इस्तीफे का कारण सिर्फ इतना बताया है कि भाजपा में कार्यकर्ताओं के दायित्व बदलते रहते हैं, उन्हें जो भी नया दायित्व मिलेगा वह स्वीकार्य है।