May 16, 2022 4:21 pm

कानून की किताबे पढ़कर सीखे फंडे -फिर किया पत्नी का कत्ल ,  नहीं बरामद हो पाई लाश, फेल हुए पुलिस के  सभी हथकंडे

मेरठ: कानूनी दांव पेंच से बचने के लिए 10 वीं पास दीपक निराला ने अपनी पत्नी रूबी की हत्या इस अंदाज से कर दी की पुलिस भी लाश खोजते –खोजते परेशान है। आपको बता दें दीपक ने अपनी पत्नी की हत्या करने से पहले आइपीसी और सीआरपीसी की किताबें पढ़ी थी, जो आरोपित के घर से पुलिस ने बरामद की है। यानि कातिल था तो सिर्फ दसवी पास लेकिन उसने जो कत्ल के लिए दिमाग लगाया शायद पेशेवर कातिल भी न लगा पाये और यही कारण है कि पुलिस रूबी का शव बरामद नहीं कर पा रही है, जबकि फोरेंसिक टीम को साक्ष्य मिले हैं कि घर के बरामदे में टुकड़े-टुकड़े कर शव बोरे में भरा गया था।

इंस्पेक्टर ब्रिजेश कुमार ने बताया कि दीपक ने पत्नी रूबी की हत्या की पूरी प्लानिंग की थी। उसने 22 अगस्त को ही रूबी की हत्या कर दी थी। बताया कि जब फोरेंसिक टीम मोहल्ले और आरोपित के घर से साक्ष्य जुटा रही थी। उस समय आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि दीपक पहले भी एक युवक की हत्या में ढाई साल की सजा काट कर आया था। सूत्रों का कहना है कि पत्नी की हत्या के बाद दीपक हरिद्वार, ऋषिकेश, जम्मू कश्मीर व वैष्णोदेवी भी गया था। ताकि पुलिस को गुमराह किया जा सके। पुलिस से बचने के लिए मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी शिकायत की थी। जिसमें उसने रूबी के बीमार होने के बाद हरिद्वार में अंतिम संस्कार की बात कही थी। यानि दीपक भले ही दस्वी पास था मगर उसका दिमाग इतना तेज की उसने पुलिस प्रशासन को गुमराह करने मे कोई कसर नहीं छोड़ी।

दसवीं पास है दीपक: 

समाज के लोगों ने बताया कि जब दीपक एक युवक की हत्या के मामले में जेल गया था। तभी से जैन समाज के लोगों ने उससे दूरी बना ली थी। उन्होंने बताया कि आरोपित दसवीं तक पढ़ा था। सूत्रों की मानें तो आरोपित के घर में रसोई के पास से ब्लड सहित कई अहम साक्ष्य मिले हैं।

दो किमी तलाशी नहर, नहीं मिला शव: 

पुलिस ने गोताखोरों की मदद से देर शाम तक दो किमी नहर खंगाली, लेकिन शव नहीं मिला। दरअसल, शव बोरे में भरकर फेंका था और उसे 23 दिन हो गए हैं। ऐसे में शव को तलाश पाना मुश्किल लग रहा है। बुधवार को भी सर्च अभियान चलाया जाएगा। एसपी देहात केशव कुमार का कहना है कि पुलिस, फोरेंसिक टीम और डाग स्क्वाड भी लगा दिया है। पुलिस गोताखोरों की भी मदद ले रही है। दीपक से भी लगातार पूछताछ की जा रही है। दीपक को जेल भेजने के बाद उसे रिमांड पर लेकर शव की तलाश की जाएगी।

किसी युवक से फोन पर करती थी बात इसलिए मारा

एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि पूछताछ में दीपक ने बताया कि 22 अगस्त की रात रूबी किसी युवक से फोन पर बात कर रही थी। तभी कहासुनी हो गई। रूबी ने गुस्से में आकर कांच के गिलास से पानी मुंह पर फेंक दिया। तभी गुस्से में आकर रूबी को धक्का दे दिया। रूबी का सिर दीवार में लग गया। इसके बाद वह गाली गलौच पर उतर आई। तब लोहे की राड से वार कर रूबी की हत्या कर दी। शव को धारदार हथियार से टुकड़ों में काट कर बोरे में भरकर भलसोना पुल से नहर में फेंक दिया था।

खून के धब्बे देखकर घर में शव होने का शक

घर के बरामदे में खून के धब्बे मिलने पर फोरेंसिक टीम को शक हुआ था कि शव घर में दबा हुआ है, क्योंकि दीपक पुलिस और स्वजन को हर बार गुमराह कर रहा था। पुलिस ने घर की खोदाई भी की थी। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि घर में शव नहीं मिलने पर नहर में शव की तलाश की जा रही है।