May 22, 2022 12:15 am

खटीमा पहुंचे राकेश टिकैत बोले:  टैंक, ट्रैक्टर और ट्विटर से ही बचेगा देश, साथ आएं युवा

खटीमा: भारतीय किसान यूनियन के राष्‍ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि टैंक, ट्रैक्टर और ट्विटर से ही देश बचेगा। किसान का असली टैंक उसका ट्रैक्टर है। सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाए। जब तक तीनों संशोधित कृषि कानून वापस नहीं होंगे, किसान आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगे। यह लड़ाई फसल व नस्ल की है। इस आंदोलन को युवाओं का साथ चाहिए। उनके आने से आंदोलन को और धार मिलेगी।

उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड की सीमा से सटे मझोला में स्थित गगन पैलेस में रविवार को किसानों को संबोधित करते हुए टिकैत ने कहा कि देश का जो युवा बार्डर पर सेना में है, वह मजबूती से टैंक चलाने का काम करे। जिसने वर्दी पहनी वह ड्यूटी करे। जब वह अपने घर जाए अपने ट्रैक्टर को मजबूती से संभाल कर रखे। कहीं पर भी इसकी जरूरत पड़ सकती है। ट्रैक्टर ही किसान का टैंक है। जो बच्चे मोबाइल चलाते हैं, वे ट्विटर चलाएं। टैंक, ट्विटर, ट्रैक्टर से ही देश बचेगा।

मक्का, धान, गेहूं, गन्ने का वाजिब मूल्य किसानों को नहीं मिल रहा है। अब बड़ी-बड़ी कंपनियों की नजर साप्ताहिक बाजारों पर है। 11 साल से बंद मझोला चीनी मिल बंद की सुध सरकार ने नहीं ली। संचालन मनप्रीत सिंह ने किया। इस मौके पर यूनियन के जिलाध्यक्ष गुरुसेवक सिंह, जसविंदर सिंह पप्पू, हरप्रीत सिंह, गगन सिंह, सर्वजीत सिंह, अमरजीत सिंह, अवतार सिंह आदि मौजूद थे। इधर, सीमा पर होने वाले भाकियू के कार्यक्रम को लेकर उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड के पुलिस कर्मी बड़ी संख्या में तैनात रहे।