कामुक गुरु शिष्याओं से कराता था न्यूड डांस, डर से सब सहती थीं अत्याचार – गांववालों ने लात-घूसों से उतारा मास्टर पर चढ़ा हवस का बुखार

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

पटना:   बक्सर जिले से गुरु-शिष्य के रिश्ते को तार-तार करने वाली खबर सामने आई है। और ऐसी खबर आई है जिसने गुरु शिष्या के रिश्ते को झकझोर के रख दिया है।  पूरा मामला बिहार के बक्सर जिले मे डुमरांव प्रखंड कार्यालय के सामने स्थित मध्य विद्यालय का है जहां कार्यरत एक शिक्षक ने गुरु पद को ही धूमिल कर दिया। और अपनी गरिमा और अनुशासन को ही गिरा दिया। खिरौली के नियोजित शिक्षक वंश नारायण चौबे ने छात्राओं को सिर्फ नचवाया ही नहीं बल्कि उनके साथ गन्दी हरकत भी की।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शिक्षक स्कूल मे पढ़ने वाली छात्राओं को निर्वस्त्र कर नचवाता था। जब छात्राएं ऐसा करने से मना करती थीं, तब शिक्षक उनकी पिटाई किया करता था और उन्हे प्र्ताड़ित किया करता था। इस मामले का खुलासा बाल कल्याण समिति की जांच में सामने आया है। बताया जा रहा है कि 16 सितंबर को एक क्लास टीचर क्लास बंद कर मासूम बच्चियों को निवस्त्र कर नचवा रहे थे। इस दौरान अन्य छात्र भी क्लास रूम में मौजूद थे। सभी को शिक्षक ने आंख बंद करने के लिए कहा।  लेकिन, इस दौरान एक छात्र ने अपनी आंख बंद नहीं की और इस घटनाक्रम को देखा। शिक्षक ने उस लड़के को पकड़ लिया और उसकी पिटाई कर दी। लड़के ने ये जानकारी अपने अभिभावक को दे दी। जिसके बाद अभिभावक स्कूल आ धमके और शिक्षक के साथ उनकी हाथापाई भी हुई।

इस पूरी घटना की सूचना पुलिस को दी गई तो सूचना पर शिक्षा विभाग के अधिकारी आ धमके। शिक्षा विभाग के अधिकारी ने पूरे मामले की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने छात्र और छात्राओं से बात भी की और बच्चों ने अधिकारियों के सामने पूरी बात उगल दी और शिक्षक पर कई आरोप भी लगाए। वहीं, अब पूरे मामले की जांच की जा रही है। और शिक्षक पर कार्रवाई की तैयारी चल रही है।