पति-पत्नी और “जासूस” : शक्की पति करे महसूस, पत्नी की ज़िंदगी मे है कोई आशिक मनहूस, पीछे छोड़ दिया जासूस, पुलिस ने गुंडा समझ जेल में दिया ठूंस…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

नई दिल्ली: नोएडा पुलिस ने एक जासूस को गिरफ्तार किया है। जासूस किसी देश के लिए भारत की गोपनीय जानकारियां नहीं बटोर रहा था। बल्कि वह पति-पत्नी के बीच चल रहे विवाद में पति द्वारा पत्नी की जासूसी के लिए हायर किया गया था। जो कि तीन माह से महिला का पीछा कर उसकी विडियो व फोटो बना रहा था लेकिन अब महिला की शिकायत पर जासूस को थाना सेक्टर-39 पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक थाना सेक्टर-24 क्षेत्र में रहने वाली एक महिला का अपने पति रविश भट्ट से विवाद चल रहा है। जो पिछले कई माह से अपने पति से अलग रह रही है। रविश को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था इसलिए वह उसकी जासूसी कराने के लिए एक डिडेक्टिव एजेंसी के पास पहुंचा और उसने पत्नी की जासूसी कराने के लिए राजीव नाम के एक डिडेक्टिव को हायर किया। जो पिछले तीन माह से लगातार रविश की पत्नी का पीछा कर उनकी विडियो व फोटो बना रहा था। वह कहां जाती है और किस किस से मिलती है। लगातार एक व्यक्ति द्वारा पीछा किए जाने और विडियो व फोटो खींचने के शक में राजीव सिंह को पकड़ लिया और थाना सेक्टर-24 पुलिस के हवाले कर दिया।

थाना प्रभारी सेक्टर-24 सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि कथित जासूस राजीव ने पुलिस को बताया कि महिला के पति ने बतौर उसे हायर किया है। राजीव दिल्ली के कल्याणपुरी में रहता है। जो कि मूल रूप से औरंगाबाद बिहार का रहने वाला है। महिला व उसके पति रविश के बीच तलाक का केस चल रहा है। तलाक लेने के लिए राविश पुख्ता सबूत एकत्र करना चाहता है। महिला पति रविश दोनों की नौकरी पेशा है। महिला अपने पति से अलग होकर थाना सेक्टर-24 क्षेत्र के चौड़ा गांव में किराए का कमरा लेकर रह रही है। वहीं पति नोएडा से बाहर रहता है।

मालूम हो कि नोएडा व दिल्ली-एनसीआर में लगभग सौ से ज्यादा डिडेक्टिव एजेंसियां है। जो घरेलू या कंपनी विवाद में लोगों की जासूसी कराने के लिए अपने सेवाएं देती है। यह जासूस पूरी तरह प्रोफेशनल होते है। जिसके लिए इन्हें ट्रेनिंग भी दी जाती है। पकड़े गए राजीव सिंह भी एक एजेंसी में काम करता है लेकिन उसके नाम का खुलासा नहीं कर रहा है। जिसके चलते पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।