हड्डियों को रखना है स्वस्थ और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को रखना है नियंत्रित तो खाली पेट खाइये लहसुन, होंगे ये चमत्कारी फायदे…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

न्यूज़ डेस्क :  हर भारतीय घरों में लहसुन का उपयोग खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता हैं। लेकिन क्या आप जानते है कि खाने के स्वाद को बढ़ाने वाले इस लहसुन में ऐसे औषधिय गुण छिपे हुए है जो आपकी सेहत के लिए वरदान साबित हो सकते हैं। लेकिन इसका उपयोग आपको सुंबह खाली पेट करना होगा। क्योकि खाली पेट लहसुन को पानी के साथ लेने से शरीर को कई गुना फायदा पहुंचता है। आर्युवेद में लहसुन को सबसे खास जड़ी बूटियों में से एक माना गया है। सुबह खाली पेट एक गिलास पानी के साथ कच्‍चा लहसुन खाने से सेहत को कई तरह के चमात्कारिक लाभ मिल सकते हैं।

पाचन प्रक्रिया में होता है सुधार

सुबह के समय खाली पेट लहसुन का सेवन पानी के साथ करने से पाचन क्रिया में सुधार होता है। गैस, ऐंठन और पेट की सूजन से भी राहत मिलती है। लहसुन पाचन क्रिया को मजबूती देकर भोजन से अधिकतम पोषण प्राप्त करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह पेट से संबंधित समस्याएं जैसे पेट दर्द, दस्त, सूजन, आदि को दूर करने में मदद करता है।

कोल्ड और फ्लू के संक्रमण से देता है सुरक्षा

लहसुन में एंटीबायोटिक और एंटी फंगल के गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते है जो हमारे शरीर के बैक्टीरियल इंफेक्शन को दूर करने में मदद करते है। यह बाहरी संक्रमण से शरीर को बचाता है। लहसुन हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में करता है मदद

सुबह के समय खाली पेट कच्चे लहसुन को पानी के साथ खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रहता है। जिससे ब्लड प्रेशर का समस्याओँ से बचा जा सकता है। यह प्राकृतिक रुप से रक्त को पतला करके ब्लड क्लॉटिंग को रोकता है जिससे शरीर में रक्त का प्रवाह सही तरीके से होता है।

शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालता है

कच्चे लहसुन के एक या दो फली रोज पानी के साथ खाएं। लहसुन के औषधिय गुण शरीर को शुद्ध करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही लहसुन में सल्फाइड्रल यौगिक होते हैं जो शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालते हैं। जिससे शरीर की सफाई हो जाती है। और रक्त भी शुद्ध होता है।

हड्डियों के स्वास्थ्य

अगर आप सुबह में खाली पेट कच्चे लहसुन और एक गिलास पानी का सेवन करते हैं तो यह कैल्शियम की कमी को पूरा करता है। इससे हड्डियां स्वस्थ और मजबूत बनती है। रखता है। मासिक धर्म के समय होने वाले यह दर्द से राहत देता है यह शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बनाए रखने में मदद करता है।

(डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।)