लखीमपुर खीरी कांड का उत्तराखंड मे असर, किसानों के टेंट देख, शिक्षा मंत्री ने नहीं किया सफर, पढ़िये पूरी खबर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: लखीमपुर खीरी कांड की धमक उत्तराखंड में भी देखी जा रही है जिसका खमियाजा भारतीय जनता पार्टी नेताओं को भुगतना पड़ रहा है। दरअसल, सूबे के शिक्षा एवं खेल मंत्री अरविंद पांडेय ने अपनी विधानसभा क्षेत्र में स्टेडियम का शिलान्यास करने का समारोह रखा था। जैसे ही इसकी भनक अन्नदाताओं को लगी, तभी किसानों ने अपना टेंट भी समारोह स्थल के सामने ही गाड़ दिया।

वही लखीमपुर खीरी कांड के पश्चात् से अन्नदाताओं के आंदोलन ने उग्र रूप धारण कर लिया है। इसको लेकर किसानों के संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर  भारतीय जनता पार्टी के सभी समारोह का विरोध की धमक अब उधम सिंह नगर में देखने को मिल रही है। जहां कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय ने अपनी विधानसभा क्षेत्र में स्टेडियम का शिलान्यास कार्यक्रम था। इसको लेकर अन्नदाताओं ने भारी विरोध कर दिया, जिसका परिणाम यह हुआ कि कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय ने अपना समारोह कैंसिल कर वर्चुअल मोड़ में शिलान्यास किया। विधानसभा गदरपुर के ग्राम खेमपुर में बुक्सा जनजाति के पूर्वज राजा जगत देव महाराज इंडोर स्टेडियम का शिलान्यास किया।

इसके साथ ही अन्नदाताओं के विरोध प्रदर्शन की खबर प्राप्त होते ही भारी आँकड़े में पुलिस सेना तैनात हो गई। वहीं मंत्री के बेटे अतुल पांडेय ने कहा कि इलाके में 4 करोड़ 28 लाख की लागत से इंडोर स्टेडियम का खेल मंत्री अरविंद पांडेय द्वारा वर्चुअल मोड पर शिलान्यास किया, उन्हें पीएम नरेन्द्र मोदी के समारोह में सम्मिलित होना था, इसलिए वह समारोह में नहीं पहुंच पाए।