August 19, 2022 8:48 pm

दिल्ली में 23 IPS समेत 32 अफसर इधर-उधर, ट्रैफिक से हटाई गईं महिला आईपीएस मीनू चौधरी, जानिए किसे मिली क्या ज़िम्मेदारी ?

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस में अंतर-विभागीय तबादलों का दौर जारी है. अभी तक पूरी दिल्ली के थानों में मौजूद कई साल से SHO के पद पर जमे इंस्पेक्टरों को इधर-उधर करने का दौर चल रहा था. गुरुवार को ही करीब 140 इंस्पेक्टर-एसएचओ को इधर से उधर किए जाने वाली लिस्ट जारी हुई थी. महकमे में एक साथ इतनी बड़ी संख्या में पहली बार इधर-उधर किए जाने और राजधानी के थानों में दिल्ली पुलिस के 43 साल के इतिहास में एक साथ 9-9 थानों में महिला इंस्पेक्टर्स को SHO बनाए जाने की चर्चाएं अभी थमी भी नहीं थीं कि शुक्रवार को दिल्ली पुलिस में अंतर-विभागीय तबादलों (इंटर डिपार्टमेंटल ट्रांसफर्स) की एक और बड़ी सूची जारी कर दी गई.

32 अफसरों की इस ट्रांसफर सूची में भारतीय पुलिस सेवा (Indian Police Service) के 23 अफसरों सहित 9 अफसर दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप पुलिस सेवा (दानिप्स Delhi, Andaman and Nicobar Island Police Service) के भी शामिल हैं. इस विभागीय रद्दोबदल में सबसे खास तैनाती है लंबे समय से प्रतीक्षारत और 1989 अग्मूटी कैडर के आईपीएस अधिकारी संजय बेनीवाल की तैनाती. संजय बेनीवाल अब तक चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक पद पर तैनात थे, वो काफी समय पहले डीजी चंडीगढ़ के पद का सेवा कार्यकाल पूरा करके वापस दिल्ली लौट आए थे. संजय बेनीवाल को अब दिल्ली पुलिस में स्पेशल पुलिस कमिश्नर Perception Management और मीडिया सेल प्रभारी बनाया गया है.

ट्रैफिक से हटाई गईं महिला आईपीएस मीनू चौधरी

ट्रांसफर लिस्ट के मुताबिक 2003 बैच के आईपीएस अधिकारी और अब तक दिल्ली पुलिस साइबर और टेक्नोलॉजी सेल के संयुक्त आयुक्त रहे प्रेम नाथ अब Tech and Project Implementation and CyPAD में भेजा गया है जबकि 2003 की महिला आईपीएस अधिकारी मीनू चौधरी को संयुक्त आयुक्त दिल्ली पुलिस ट्रैफिक से हटाकर दक्षिणी परिक्षेत्र (रेंज) में भेज दिया गया है. मीनू चौधरी कई साल से ट्रैफिक में ही तैनात थीं. मीनू चौधरी को हटाए जाने से साफ है कि नव-नियुक्त पुलिस आयुक्त ने मातहत अफसरों को इधर-उधर करते वक्त इस बात का भी विशेष ख्याल रखा कि कौन-कौन अफसर कितने लंबे समय से एक ही कुर्सी पर जमा हुआ था.

मातहतों में चर्चित एनएस बुंदेला भी रेंज से हटाए गए

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में संयुक्त आयुक्त पद पर तैनात 1998 बैच के आईपीएस अधिकारी संजय कुमार को हटाकर उस राष्ट्रपति भवन की पोस्टिंग दे दी गई है, प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रुप से जिसकी पोस्टिंग दिल्ली पुलिस के अधिकांश अफसरों की पंसद में अंतिम स्थान पर रहती है. इसी तरह से मनीष कुमार अग्रवाल (1996 बैच), एसएस यादव (1997 बैच), बीनू बंसल (2004 बैच) और 1996 बैच के आईपीएस एनएस बुंदेला को भी उनके मौजूदा पदों से तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. एनएस बुंदेला अब तक सेंट्रल रेंज में संयुक्त आयुक्त पद पर तैनात थे. सेंट्रल रेंज में तैनाती के वक्त बुंदेला मातहतों के बीच तमाम तरह की बातों को लेकर लंबे समय से चर्चाओं में भी थे. उनके खिलाफ एक शिकायत सीधे केंद्रीय गृह मंत्रालय को भी की गई थी.

ये आईपीएस अफसर भी हुए इधर-उधर

कहा जाता है कि एनएस बुंदेला को उनके संयुक्त आयुक्त सेंट्रल रेंज जैसे महत्वपूर्ण पद से हटाए जाने के पीछे के कारणों में, काफी हद तक उनके खिलाफ लंबे समय से चल रही इस तरह की चर्चाओं का बाजार भी प्रमुख वजह रही. एनएस बुंदेला अब संयुक्त आयुक्त लीगल डिवीजन देखेंगे. लीगल डिवीजन दिल्ली पुलिस का एक वो विभाग है जिसका सीधे-सीधे आमजन की पुलिसिंग से कोई वास्ता नहीं रहता है. तबादला सूची के मुताबिक 2005 बैच की महिला आईपीएस अधिकारी सुमन गोयल, 2004 बैच के आईपीएस एके सिंह, परवेज अहमद, Michi Paku, ऋषि पाल, धीरज कुमार, 2007 बैच के दीपक पुरोहित, महेश चंद भारद्वाज, 2006 बैच के एवी देश पांडेय को भी उनके मौजूदा पदों से हटाकर इधर-उधर भेज दिया गया है.

पूर्व कमिश्नर के SO पोरवाल सुप्रीम कोर्ट सिक्योरिटी भेजे

पूर्व पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव (सच्चिदानंद श्रीवास्तव) के स्टाफ ऑफिसर (SO) रह चुके विक्रम पोरवाल को इंदिरा गांधी इंटरनेशल एअरपोर्ट डीसीपी पद से हटा दिया गया है. विक्रम पोरवाल 2001 दानिप्स सेवा के अधिकारी हैं. विक्रम पोरवाल अब  डीसीपी सिक्योरिटी सुप्रीम कोर्ट होंगे. हालांकि वहीं दूसरी ओर लंबे समय से डीसीपी रेलवे के पद पर तैनात आईपीएस अधिकारी हरेंद्र कुमार सिंह को उनके पूर्व पद पर तो तैनात रखा ही गया है. साथ ही साथ अब उन्हें दिल्ली पुलिस की लीगल डिवीजन के डीसीपी का भी अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया गया है. इधर-उधर किए गए दानिप्स सेवा के अफसरों में एसके सिंह, पंकज कुमार, कृष्ण कुमार, रविकांत, धीरेंद्र प्रताप सिंह, उमा शंकर और तनु शर्मा का भी नाम शामिल है.