जानिये क्या कहता है “सी-वोटर” का सर्वे ? क्या यूपी–उत्तराखंड मे फिर दिखेगा कमल का कमाल ? पढ़िये 5 राज्यों के सर्वे का सार…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

नई दिल्ली: देश के पांच राज्यों में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। इसे दिल्ली की सत्ता का सेमीफाइनल भी कहा जाता है। सभी दल चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। इस बीच  एबीपी न्यूज सी-वोटर की तरफ से किए गए सर्वे किया है, जिसमें जनता का मिजाज टटोलने की कोशिश की गई है।  सर्वे के मुताबिक, यूपी,उत्तराखंड और गोवा में फिर से भाजपा की सरकार बनने के आसार दिख रहे हैं। जबकि पंजाब में कांग्रेस और ‘आप’ में कांटे की टक्कर के आसार हैं। सर्वे के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में भाजपा को 41 फीसदी वोट हासिल हो सकता है, जबकि समाजवादी पार्टी के खाते में 32 फीसदी, बहुजन समाज पार्टी के खाते में 15 फीसदी, कांग्रेस को 6 फीसदी और अन्य के खाते में 6 फीसदी वोट जा सकते हैं। सीटों के लिहाज से अगर देखें तो भाजपा के खाते में 241 से 249 सीटें जा सकती है। समाजवादी पार्टी के हिस्से में 130 से 138 सीटें आ सकती है। जबकि बसपा 15 से 19 के बीच और कांग्रेस 3 से 7 सीटों के बीच सिमट सकती है।

वहीं पंजाब में बड़ा बदलाव देखा जा सकता है। 117 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को बड़ा फायदा हो सकता है। आप को सर्वे में 36 फीसदी, कांग्रेस को 32 फीसदी, अकाली दल को 22 फीसदी, भाजपा को 4 फीसदी और अन्य को 6 फीसदी वोट मिलने की संभावना हैं। सीटों के लिहाज से देखें तो आप को 49 से 55 सीटें, कांग्रेस को 30 से 47 सीटें, अकाली दल को 17 से 25 सीटें, भाजपा को 0-1 सीट और अन्य को भी 0-1 सीट आ सकती है। अगले साल उत्तराखंड के चुनाव में एक बार फिर से भाजपा वापसी कर सकती है। सर्वे के मुताबिक, कांग्रेस को 34 फीसदी, भाजपा को 45 फीसदी, आम आदमी पार्टी को 15 फीसदी और अन्य को 6 फीसदी वोट मिल सकते हैं। सीटों की अगर बात करें तो राज्य में कांग्रेस को 21-25 सीटें, भाजपा को 42-46 सीटें, आम आदमी पार्टी को 0-4 सीटें और अन्य को 0-2 सीटें मिल सकती है।

सर्वे के मुताबिक, 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में भाजपा सबसे ज्यादा सीटों के साथ राज्य में एक बार फिर से अपनी सरकार बना सकती है। पिछली बार राज्य में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, लेकिन वह राज्य में सरकार नहीं बना पाई थी। सर्वे के अनुसार, गोवा में भाजपा को 24 से 28 सीटें मिल सकती है। जबकि, कांग्रेस के खाते में सिर्फ 1 से 5 सीट, आम आदमी पार्टी को 3 से 7 और अन्य को 4 से 8 सीटें मिल सकती है। अगर वोटों के लिहाज से देखें तो भाजपा को 38 फीसदी वोट मिल सकते हैं। जबकि, कांग्रेस 18 फीसदी, आप 23 फीसदी और अन्य को 21 फीसदी वोट हासिल हो सकते हैं।

सर्वे के मुताबिक, मणिपुर में भाजपा को 21 से 25 सीटें आ सकती है। हालांकि, सरकार बनाने के लिए वहां पर कम से कम 31 सीटों की आवश्यकता होगी। इसके अलावा, कांग्रेस को 18 से 22 सीटें, एनपीएफ को 4 से 8 सीटें और अन्य को 1 से 5 सीटें मिल सकती है। अगर वोट फीसदी के हिसाब से देखें तो भाजपा को मणिपुर चुनाव में 36 फीसदी वोट हासिल हो सकते हैं, जबकि कांग्रेस को 34 फीसदी, एनपीएफ को 9 फीसदी और अन्य को 21 फीसदी वोट हासिल हो सकते हैं।