धामी सरकार के 100 दिन पूरे, विपक्ष का तंज़- अभी सब काम पड़े अधूरे, पढ़िये पूरी खबर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: उत्तराखंड में धामी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर जहां सरकार ने इस कार्यकाल को ऐतिहासिक करार दिया वहीं, विपक्ष कांग्रेस ने कहा कि 100 दिन क्या पूरे साढे़ चार साल से सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि 10 दिन का कार्यकाल जनता को समर्पित कार्यकाल रहा है। इन सौ दिनों में जनता के हित में कई अहम फैसले किए गए है।

कोरोना महामारी की वजह से पटरी से उतरी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का प्रयास किया गया है। कोरोना से प्रभावित हर वर्ग को आर्थिक सहायता सरकार ने दी। इसके साथ ही कोरेाना से जंग लड़ने में अहम भूमिका निभाने वाले कार्मिकों को भी सरकार ने प्रोत्साहित किया है। सरकार सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र को साथ लेकर आगे बढ़ रही है।

दूसरी तरफ, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल और नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने सरकार को कठघरे में किया है। कहा कि प्रदेश में विकास कार्य पूरी तरह से ठप पड़े हुए हैं। प्रदेश के पर्वतीय जिलों में बिजली, स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़कों का बुरा हाल है। कहा कि ग्रामीणों को पेयजल के लिए कई किलाेमीटर तक पैदल चलना पड़ता है। डॉक्टरों की कमी के कारण ग्रामीणों को उम्दा चिकित्सकीय सेवाएं भी उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं।  

सरकार का एक उद्देश्य प्रदेश के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक विकास पहुंचाना है। इन सौ दिन की अवधि में सरकार ने कई अहम निर्णय किए हैं।

पुष्कर सिंह धामी, मुख्यमंत्री

100 दिन के कार्यकाल की बात क्या करें, यहां तो पूरे साढ़े चार साल से ही सरकार फेल है। धामी सरकार ने भी अपने भी बातें बातें की है। भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, महंगाई पर रोक लगाने में यह सरकार भी नाकाम रही है।

गणेश गोदियाल, प्रदेश अध्यक्ष-कांग्रेस

भाजपा की धामी सरकार के 100 दिन पूरे हो चुके हैं। धरातल पर कोई भी ठोस कार्य नहीं हुआ है। महंगाई लगातार बढ़ी है। इन 100 दिनों में पेट्रोल-डीजल के दाम भी 100 रुपए के पार पहुंच चुके हैं। भाजपा सरकार में हर व्यक्ति महंगाई से बुरी तरह त्रस्त है।
प्रीतम सिंह, नेता प्रतिपक्ष