ललितपुर की मासूम के साथ दरिंदगी का मामला : पापी पिता ने ही पोर्न दिखाकर शुरू किया था बलात्कार, 28 दरिंदे बना चुके हैं हवस का शिकार

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

ललितपुर. उत्तर प्रदेश (UP) के ललितपुर जिले में 17 वर्षीय किशोरी ने एक अपने पिता और करीबी रिश्तेदारों समेत 28 लोगों पर बलात्कार (Rape) करने के आरोप लगाए हैं. पुलिस में दर्ज शिकायत में समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) के नेताओं का नाम भी शामिल है. किशोरी का कहना है कि ये लोग सालों तक उसे हवस का शिकार बनाते रहे. पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, शिकायत में किशोरी ने आरोप लगाए हैं कि वह जब कक्षा 6 में थी, तब उसके पिता ने पोर्न दिखाकर शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की थी, लेकिन उसने ऐसा नहीं होने दिया. इसके बाद पिता ने उसे नए कपड़े दिलाए और गाड़ी चलाना सिखाने के नाम पर उसे दूर ले गया और खेत में बलात्कार किया. साथ ही उसने चेतावनी दी कि अगर किशोरी चुप नहीं रही तो वह उसकी मां को मार देगा. इसके कुछ दिनों बाद ही पिता उसे स्कूल के लौटने के रास्ते में कुछ खिलाकर एक होटल ले गया. स्नैक्स में शायद नशीले पदार्थ मिले हुए थे. वहां उसने उसे उसे एक महिला के हवाले कर दिया, जो उसे कमरे में अकेला छोड़कर चली गई. कुछ समय बाद जब वह बेहोश हो गई, तो कमरे में एक शख्स दाखिल हुआ. जब पीड़िता को होश आया, तो उसके जूते और यूनिफॉर्म सही जगह पर नहीं थे और उसे पेट में तेज दर्द हो रहा था.

रिपोर्ट के अनुसार, बाद में भी बलात्कार का सिलसिला यह जारी रहा और हर बार कोई नया आदमी उसके साथ अमानवीय तरीके से बलात्कार करता था. इस दौरान उसे चुप रहने को कहा जाता और धमकाया जाता रहा. किशोरी ने अपनी शिकायत में कहा है कि कुछ दिनों बाद तिलक यादव आया और उसने इतने अमानवीय तरीके से उसके साथ दुष्कर्म किया, जैसे कोई बदला ले रहा हो. जब किशोरी ने इनकार किया, तो यादव ने कहा कि उसके पिता ही उसे यहां लेकर आए हैं और कुछ दिनों बाद उसकी मां भी यहीं आने वाली है. तिलक के साथ उसके रिश्तेदारों ने भी बलात्कार किया. हालांकि, तिलक ने सोशल मीडिया पर बयान जारी इन आरोपों को खारिज किया है और दावा किया है कि उन्हें और उनके भाइयों को मामले में झूठा फंसाया जा रहा है.

किशोरी ने आरोप लगाए हैं कि जब वह अपने मामा के घर पर गई, तो वहां भी कई रिश्तेदारों ने उसका रेप किया और इस काम में दादी ने उनकी मदद की. आरोप लगाए हैं कि दादी ने मामले को दबाने की कोशिश भी की. इतना ही नहीं किशोरी ने यह भी आरोप लगाए हैं कि रिश्तेदारों ने उसे बेचने की कोशिश भी की थी, लेकिन सफल नहीं हो सके.

मंगलवार को अखबार से बातचीत में ललितपुर के एसपी निखिल पाठक ने बताया, ‘यह बहुत ही संवेदनशील मामला है और हम इसे बहुत गंभीरता से ले रहे हैं. पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई है और धारा 161 के तहत उसका बयान भी दर्ज कर लिया गया है. बुधवार को उसका बयान धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराया गया. पीड़िता का पिता ट्रक ड्राइवर है.

पीड़िता का पिता और सपा जिलाध्यक्ष का भाई गिरफ्तार

सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने नामजद आरोपी पीड़िता के पिता, सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव के भाई अरविंद यादव तथा पीड़िता के दो नामजद रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया है। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दबिश लगातार जारी हैं। इस पूरे घटनाक्रम से ललितपुर की सियासत गरमाई हुई है।

28 लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था

मंगलवार को थाना कोतवाली में एक किशोरी ने अपने पिता, चाचा, ताऊ के अलावा सपा और बसपा के नेताओं समेत 28 लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। बुधवार को सुबह इसकी खबर लगते ही जिले की सियासत में उबाल आ गया। झांसी से सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप के नेतृत्व में भारी संख्या में सपाई ललितपुर पहुंच गए। उन्होंने पैदल मार्च निकाला और डीएम-एसपी को ज्ञापन देकर मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की। इन लोगों का कहना है कि एक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है।  वहीं, बसपा की ओर से भी प्रशासन के समक्ष यही मांग रखी गई। इसी बीच शाम को मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़ित किशोरी के बयान दर्ज किए गए। सुरक्षा के लिए किशोरी के घर पर पुलिस तैनात कर दी गई है। पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं।