“शिक्षा का मंदिर” हुआ शर्मसार, प्रिंसिपल ने स्कूल के अंदर ही किया 7वीं की छात्रा से बलात्कार, पढ़िये पूरी खबर…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

झुंझुनूं /राजस्थान: जिले के ग्रामीण क्षेत्र के सरकारी स्कूल में एक प्रधानाध्यापक को सातवीं की 11 वर्ष की छात्रा से बलात्कार करने तथा साक्ष्य मिटाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस मामले में दो अध्यापिकाओं ने भी मासूम को डराया। दोनों अध्यापिका आरोपी प्रधानाध्यापक को बचाने का प्रयास करती रही। पुलिस ने बताया कि गांव की एक छात्रा ने रिपोर्ट दी है कि वह कक्षा सातवीं की छात्रा है तथा सरकारी स्कूल में पढ़ती है। स्कूल के ही प्रधानाध्यापक ने 7-8 दिन पहले उसके साथ छेड़छाड़ की। 5 अक्टूबर 2021 को उसी प्रधानाध्यापक ने स्कूल में बुलाया तथा उसे कक्षा में बंद कर दिया तथा उसके साथ बलात्कार किया। इसके बाद छात्रा ने घटना की जानकारी उसी स्कूल की अध्यापिका को दी। लेकिन अध्यापिका ने उसकी सहायता नहीं की। इसके बाद अध्यापिका उसके घर से मोबाइल व उसे स्कूल लेकर गई। प्रधानाध्यापक ने छात्रा के मोबाइल पर मैसेज भेजे थे। अध्यापिका ने छात्रा से मोबाइल लेकर उसमें भेजे गए मैसेज डिलीट कर दिए।

इसके बाद अध्यापिका ने कहा कि चुपचाप कक्षा में चली जाओ। फिर इसकी जानकारी उसने घरवालों को बताई। फिर अध्यापिका ने कहा कि तुमने घरवालों को ये बात क्यों बताई। इसके बाद दो अध्यापिकाओं ने कक्षा में बंद कर दिया तथा डराया धमकाया। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी शिक्षक अलवर जिले का रहने वाला है। रिपोर्ट में दो अध्यापिका भी आरोपी है। छात्रा का मेडिकल करवाया गया है। इधर, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक मनोज कुमार ढाका ने आरोपी शिक्षक को निलंबित कर संयुक्त निदेशक चूरू से निर्देशन मांगा है। दोनों अध्यापिकाओं की भूमिका की सुबह जांच-पड़ताल की जाएगी।

1098 नंबर बना सहारा

बाल अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक प्रिया चौधरी ने बताया कि बच्ची व उसकी मां डरी हुई थी। वे पुलिस में नहीं जाना चाहते थे। उन्होंने सबसे 1098 पर इसकी शिकायत की। शिकायत की जांच करवाई गई। बच्ची की काउंसलिंग करवाई गई। इसके बाद उनको बाल कल्याण समिति की माध्यम से थाने में भेजकर रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है। उसके बाद पुलिस ने कार्रवाई कर आरोपी को गिरफ्तार किया है।

Recent Posts