भारी बारिश के पूर्वानुमान के बावजूद फेल हो गई धामी सरकार ! विपक्ष ने किया वार, पढ़िये पूरी खबर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: आपदा प्रबंधन और चारधाम यात्रा की व्यवस्थाओं पर कांग्रेस ने सरकार पर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस का आरेाप है कि समय पर बारिश का पूर्वानुमान जारी होने के बावजूद सरकार आपदा से निपटने के लिए ठोस व्यवस्थाएं नहीं कर पाईं। प्रदेश में 35 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और सरकार मूकदर्शक बनी हुई है।

मंगलवार को राजीव भवन में प्रेस कांफ्रेस में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने सरकार पर तीखा हमला बोला। कहा कि,  आपदा की वजह से प्रदेश में त्राहि त्राहि का माहौल बन गया है। भूस्खलन, मकान धंसने के कारण 35 से ज्यादा लोगों की जा चली गई है। रास्ते बंद होने से हजारों लोग फंसे हुए हैं। लेकिन सरकार कुछ करती नहीं दीख रही।

सरकार के लोग सचिवालय में आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूप में दौरे करने को ही पर्याप्त मान रहे हैं। आपदा प्रबंधन मंत्री पूरी तरह से नाकाम साबित हुए हैं। इसी प्रकार बामुश्किल शुरू हो पाई चारधाम यात्रा में की व्यवस्थाओं में सरकार फेल साबित हुई। यात्रियों को ठहरने, खाने-पीने, मेडिकल सुविधा तक पर्याप्त रूप से मयस्सर नहीं है। सरकार केवल अपने गुणगान में व्यस्त है। जनता की मुश्किलों से सरकार को कोई मतलब नहीं है।  गोदियाल ने सीएम से अनुरोध किया कि वो आपदा से प्रभावित लोगों को उचित मुआवजा दें और गंभीरता के साथ उनके पुनर्वास की व्यवस्था भी करें। यदि आपदा प्रभावितों की अनदेखी हुई तो कांग्रेस शांत न बैठेगी।

धामी सरकार के 100 दिन प्रदेश के साथ मजाक

गोदियाल ने कहा कि भाजपा प्रदेश सरकार के 100 दिन के कार्यकाल की उपलब्धियों को प्रचारित कर रही है। पंपलेट बनाकर लोगों को बांटे जा रहे हैं। यह प्रदेश के साथ सबसे बड़ा मजाक है। सरकार कह रही है कि हमने यह फैसला लिया और वो फैसला लिया। पर कितने फैसलों पर अमल हुआ है, इसका किसी के जवाब नहीं है।

गोदियाल ने कहा कि क्या भाजपा की सरकार केवल 100 दिन की ही सरकार है? इससे पहले त्रिवेंद्र सिंह रावत और तीरथ सिंह रावत  की सरकार के सवा चार साल का हिसाब कौन देगा? क्या वो भाजपा के मुख्यमंत्री नहीं थे? जनता भाजपा की असलियत को जान चुकी है और अब किसी भ्रम में आने वाली नहीं है। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की विदाई तय हो गई है।