हमने पहले ही कर ली थी तैयारी इसलिए उत्‍तराखंड में कम हुई जनहानि – अमित शाह

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उत्‍तराखंड के गढ़वाल और कुमाऊं मंडल के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्‍होंने बताया कि आपदा में अब तक 64 लोगों की मौत हुई है। 11 लोग लापता हैं। इन लोगों की तलाश और प्रभावितों को राहत पहुंचाने का काम जोरशोर से जारी है। हालात तेजी से सामान्‍य हो रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि भारत सरकार की ओर से 24 घंटे पहले ही चेतावनी मिलने के चलते उत्तराखंड में आपदा से कम नुकसान हुआ है। अलर्ट के चलते हमने पहले ही तैयारी कर ली थी। अधिकांश मोबाइल यूजर को समय पर मैसेज भी भेजे गए थे। इस सतर्कता के चलते जनहानि कम हुई। उन्‍होंने कहा कि सीएम पुष्‍कर सिंह धामी की सरकार ने काफी सूझबूझ से काम किया।

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि उत्‍तराखंड में आपदा की स्थिति में केंद्र और राज्य सरकार की सभी एजेंसियां सक्रिय हो गई थी। सेना, एनडीआरएफ, आइटीबीपी, एसडीआरएफ, पुलिस तथा दमकल दस्ते समय रहते राहत के काम में जुट गए थे। इससे सरकार 3500 लोगों को रेस्क्यू करने में सफल रही। 16 हजार से अधिक नागरिकों को सरकार ने सुरक्षित भी किया। केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि नैनीताल, हल्द्वानी और अल्मोड़ा की तीन सड़कों को छोड़कर शेष सभी सड़कों पर आवाजाही शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि कुछ स्थानों पर सड़कें 25 मीटर से ज्‍यादा टूट गई थीं। उन्‍हें ठीक करने में कुछ वक्त लग सकता है। उन्‍होंने बताया कि सभी आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बिजली और पानी बहाल कर दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि केंद्रीय टीम नुकसान का आकलन करेगी। आपदा प्रबंधन की तरफ से पहले ही 250 करोड़ रुपए दिए गए हैं। केंद्र सरकार राज्य को पूरी मदद देगी। हवाई सर्वेक्षण के दौरान उनके साथ राज्‍यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह, केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, अनिल बलूनी, कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत और मुख्य सचिव एसएस संधू भी मौजूद रहे।