“आप” की मांग: आपदा पीडित किसानों को 50 हजार प्रति हैक्टेयर मुआवजा दे राज्य सरकार

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: आप प्रदेश प्रवक्ता नवीन पिरशाली ने आज आप प्रदेश कार्यालय में प्रेसवार्ता करते हुए आपदा में प्रभावित किसानों को 50000 रुपए प्रति हेक्टेयर मुवावजा देने की मांग की । उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले तीन से चार दिनों में आई भीषण बारिश ने पूरे जन जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है। कुमाऊं और गढ़वाल में आपदा ने अपना रौद्र रूप दिखाया है जिसमें आम जनमानस के साथ किसानों की फसलों को भी पूरी तरह बर्बाद कर दिया। उन्होंने कहा, भीषण आपदा में पीड़ित लोगों के संपर्क में  आप कार्यकर्ता लगातार बने हैं और जगह जगह उनकी हरसंभव मदद कर रहे हैं।  जो लोग आपदा में मारे गए हैं आप पार्टी उनकी आत्मा की शांति प्रार्थना करते हुए अपनी संवेदनाएं प्रकट करती है।

उन्होंने कहा कि इस आपदा ने आम जनता के साथ किसानों को भी पूरी तरह तोड़ दिया,लगातार बारिश से किसानों की लाखों हेक्टेयर जमीन पर लगी फसल और सब्जियां पूरी तरह पानी में डूब कर बर्बाद हो चुकी हैं । अकेले ऊधम सिंह नगर में करीब 40 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि इससे पूरी तरह प्रभावित हुई जिससे किसानों को बड़ा नुकसान हुआ है।   पहाडों में भी किसानों को काफी नुकसान हुआ है और फसलों के साथ साथ कई खेत बारिश की भेंट चढ चुके हैं। रुद्रपुर, काशीपुर, बाजपुर, जसपुर, गदरपुर,हरिद्वार,रुडकी,खटीमा में अब तक सिर्फ 10 से 15 फीसदी धान कटाई हुई है। जबकि 90 प्रतिशत धान की फसल खेतों में खडी हैं ,और बारिश के चलते कई हेक्टेयर में जमीन में फसल बिछ गई है।  लगभग 30 से 35 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि भारी बरसात से प्रभावित हुई है। धान की फसल के अलावा उड़द और मटर की बुआई हाल में की गई थी, और ये फसलें बारिश से 50 फीसदी नष्ट हो चुकी हैं।

आम आदमी पार्टी मांग करती है कि धामी सरकार तत्काल किसानों को सम्मानजनक राशि मुआवजे के तौर पर उपलब्ध कराए, ताकि किसानों को आपदा के इस दर्द में थोड़ी सी राहत मिल सके। इसके अलावा आप पार्टी मांग करती है कि, जिस तरह दिल्ली में अरविंद केजरीवाल किसानों को 50 हजार प्रति हेक्टेयर फसल बर्बादी पर मुआवजा दे रहे हैं ,उसी तरह उत्तराखंड के किसानों को भी मुआवजा मिलना चाहिए। आपदा में प्रदेश में करोड़ों का नुकसान हुआ ,जिसकी तस्दीक आंकड़े भी करते हैं। आप पार्टी मांग करती है किसानों को मुवावाजे के साथ  केंद्र द्वारा प्रदेश को 10,000 करोड़ की आर्थिक सहायता भी दी जाए। प्रदेश में भारी बारिश से हजारों करोड के नुकसान के साथ जानमाल का भी नुकसान हुआ है। जिसमें सडकें,मकान,दुकानें ,खेत,बारिश की भेंट चढ गए हैं।राज्य सरकार द्वारा कोई भी सकारात्मक व्यवस्था या पहल अब तक धरातल पर नहीं दिखाई दे रही, लोगों की नाराजगी अब खुलकर सामने आने लगी है और बीते दिन रुद्रपुर के आपदा प्रभावित इलाके में पहुंचे प्रभारी मंत्री यतीश्वरानंद का विरोध खुलकर सामने दिखा। उन्होंने कहा कि दुख की इस घडी में आप पार्टी प्रदेश की जनता के साथ खडी है और आपदा पीड़ितों को हरसंभव मदद के लिए लगातार धरातल पर मौजूद है।