सीएम धामी ने चमोली के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा-प्रभावितों के जख्मों पर लगाया मरहम- अधिकारियों को राहत,बचाव में तेजी का निर्देश

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज शुक्रवार को पौड़ी और चमोली जिले में आपदाग्रस्त इलाकों के दौरे पर पहुंचे हैं। सीएम पहले चमोली के डुंग्री गांव पहुंचे और आपदा पीड़ितों को सांत्वना दी। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि18 अक्तूबर को गांव के दो लोग भारी बारिश के दौरान पानी लाइन ठीक करने गए थे। लेकिन तब वे लापता हैं। सीएम ने ग्रामीणों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। इसके बाद वे पौड़ी का रुख करेंगे। यहां भाजपा की ओर से सर्किट हाउस में आयोजित शोक सभा में वे आपदा के मृतकों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री विकास भवन में विकास कार्यों व आपदा में हुई क्षति के नुकसान की समीक्षा बैठक करेंगे। डीएम पौड़ी विजय कुमार जोगदंडे ने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

आपदा प्रभावित क्षेत्रों में कौशिक का दो दिवसीय दौरा आज से

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक शुक्रवार से नैनीताल जिले के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण करने के लिए दो दिवसीय दौरा करेंगे। वह शुक्रवार को दोपहर दो बजे बिंदुखत्ता और सूर्याजाला के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में जाएंगे। साढ़े तीन बजे हल्द्वानी में आपदा कंट्रोल रूम का शुभारंभ करेंगे। रात में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे। शनिवार को वह रामनगर में आपदा प्रभावितों से मिलेंगे। आपदा से हुए नुकसान का जायजा लेंगे। दौरे में प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान और सोशल मीडिया संयोजक शेखर वर्मा भी साथ रहेंगे। पार्टी ने कंट्रोल रूम के पदाधिकारियों के नंबर भी जारी कर दिए।

नुकसान का आकलन करने जल्द आएगी केंद्रीय टीम: शाह 

गुरुवार को उत्तराखंड में आपदा से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए केंद्रीय गृह अमित शाह ने गढ़वाल और कुमाऊं में आपदाग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया था। दो घंटे के सर्वेक्षण के बाद उन्होंने जौलीग्रांट एयरपोर्ट स्थित गेस्ट हाउस में केंद्र और राज्य सरकार के आलाधिकारियों की बैठक की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कुदरती आपदा से हुए नुकसान के आकलन के लिए तत्काल केंद्र से एक टीम भेजी जाएगी। उन्होंने उत्तराखंड को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के संयुक्त सचिव यहीं रुकेंगे और राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ नुकसान का प्राथमिक आकलन तैयार करेंगे। उनकी रिपोर्ट पर केंद्र सरकार की एक टीम तत्काल सर्वे करने उत्तराखंड आएगी। नुकसान की सर्वे रिपोर्ट के आधार पर केंद्र सरकार मदद करेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार देवभूमि के साथ पूरी ताकत के साथ खड़ी है।

जिलों में आपदा राहत कार्यों का निरीक्षण करें प्रभारी मंत्री

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी जिलों के प्रभारी मंत्रियों को पत्र लिखकर अपेक्षा की है कि वह इस प्राकृतिक आपदा में अपने जिलों में राहत कार्यों का निरीक्षण करें। तत्काल आपदा प्रभावितों को राहत दिलाएं। मुख्यमंत्री धामी ने आह्वान किया है कि सभी प्रभारी मंत्री अपने जिलों का भ्रमण करते हुए आपदा प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण, बचाव एवं राहत कार्यों की समीक्षा, राहत सामग्री, धनराशि का वितरण एवं प्रभावित परिवारों की कुशलक्षेम और क्षतिग्रस्त कार्यों का पुनर्निर्माण की कार्रवाई करें।

उन्होंने कहा कि जिले के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की जाए ताकि आपदा से प्रभावित जनमानस को यथासमय आसानी से राहत प्राप्त हो सके। क्षतिग्रस्त कार्यों को समय से पूर्ण कराया जा सके। मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया है कि वर्तमान समय में राज्य के लगभग समस्त जिले अतिवृष्टि के कारण आपदा से प्रभावित हुए हैं। इस आपदा से जिलों में भूस्खलन, बाढ़ आदि के कारण अत्यधिक नुकसान एवं जनहानि भी हुई है। आपदा की स्थिति से निपटने के लिए सरकार निरन्तर राहत एवं बचाव कार्यों के लिए प्रयासरत है। मुख्यमंत्री ने सभी से व्यक्तिगत ध्यान देने और आवश्यक सहयोग की भी अपेक्षा की।