विज्ञान का चमत्कार: पति की 75, पत्नी की उम्र 70  साल-बेऔलाद होने का था मलाल, शादी के 45 बाद गोद में आया लाल

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

गांधीनगर: गुजरात में एक चमत्कार घटित हुआ है. एक 70 साल की महिला मां बनने में सफल हुई है. 45 साल के बाद एक दंपत्ति को औलाद का सुख मिला है. इस महिला ने दुनिया में सबसे अधिक उम्र में मां बनने का दावा किया है. जीवूबेन नाम की इस महिला ने अपनी शादी के 45 साल बाद एक बेटे को जन्म दिया है. आपको यह खबर पढ़ कर हैरानी हो रही होगी. लेकिन यह सौ फीसदी सच है. गुजरात में जीवूबेन (उम्र-70) और उनके पति मालधारी (उम्र-75) ने मिलकर यह कीर्तिमान रचा है. इस दंपत्ति की चर्चा दूर-दूर तक हो रही है. दोनों ने पत्रकार परिषद आयोजित कर अपने बेटे को दिखाया है.जीवूबेन ने IVF तकनीक की मदद से औलाद पाने में कामयाबी पाई है. जीवूबेन और मालधारी गुजरात के कच्छ इलाके के एक छोटे से गांव मोरा के रहने वाले हैं. शादी के इतने सालों बाद बेटा होने पर यह दंपत्ति बेहद खुश है. जच्चा और बच्चा दोनों पूरी तरह से स्वस्थ हैं.

45 साल के इंतज़ार के बाद गोद में आया लाल 

जीवूबेन और मालधारी की शादी आज से 45 साल पहले हुई थी. लेकिन उन्हें संतान का सुख नहीं मिल पा रहा था. IVF  तकनीक से संतान उत्पत्ति में सहायता करने वाले डॉक्टर नरेश भानुशाली ने इन्हें इस उम्र में आईवीएफ तकनीक के इस्तेमाल से जुड़ी मुश्किलें और खतरों से आगाह किया था. लेकिन ज़्यादा पढ़े-लिखे ना होने के बावजूद इस दंपत्ति को मेडिकल साइंस की ताक़त पर और ऊपरवाले की रहमत पर पूरा भरोसा था. इनकी हिम्मत और नीयत काम कर गई. जीवूबेन की गोद भर गई. फिर क्या? इस दंपत्ति ने औलाद की ख़ुशी पाने के लिए 45 साल तक इंतज़ार किया था. जब गोद भरी तो 9 महीने का इंतजार इनके लिए कौन सा इतना बड़ा था. यह इंतज़ार भी ख़त्म हुआ और एक अच्छे से मुहूर्त में इनके लाल का जन्म हुआ.

उम्र के बाद भरी गोद

जीवूबेन ने इस दुनिया में सबसे अधिक उम्र की मां होने का दावा किया है. 2009 में दुनिया में सबसे अधिक उम्र की मां बनने का गौरव यूरोप की एलिजाबेथ एडिनी ने अपने नाम किया था. उन्होंने 50 साल से अधिक उम्र में एक बच्चे को जन्म दिया था. यूके में 50 से अधिक उम्र में आईवीएफ करने पर पाबंदी थी. इसलिए उन्होंने यूक्रेन जाकर यह उपलब्धि हासिल की थी. अब जीवूबेन का दावा है कि वे दुनिया की सबसे अधिक उम्र में मां बनी हैं और यह रिकॉर्ड अब उनके नाम दर्ज किया जाए.