माँ अपने जिगर के टुकड़े को खरोंच तक नहीं लगने देती, लेकिन ये माँ बन गई हैवान, इंटरनेट पर तरीके देखकर ले ली अपनी ही बच्ची की जान

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

उज्जैन/मध्य प्रदेश:  उज्जैन में 3 महीने की बच्ची के मर्डर के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. पुलिस ने बताया है कि बच्ची की मां एक बेटा चाहती थी, बेटी पैदा होने के बाद से ही वह उससे नफरत करने लगी थी. जिसकी वजह से उसने मासूम की जान ले ली. आरोपी महिला फिलहाल पुलिस रिमांड पर है. कोर्ट ने उलकी 24 घंटे की रिमांड पुलिस को सौंपी थी. पुलिस अधिकारी उससे लगातार पूछताछ कर रहे हैं. रविवार को उसे फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा.

पुलिस का कहना है कि शातिर स्वाति लगातार अपने बयान बदल रही है. वह सच्चाई का खुलासा करने की बजाय पुलिस को गुमराह करने में लगी हुई है. उज्जैन पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश करते हुए रिमांड मांगी थी. स्वाति के परिवार के जानने वालों का कहना है कि 3 महीने की मासूम वीरति पूरे परिवार की लाड़ली थी. लेकिन उसकी मां को वह बिल्कुल भी पसंद नहीं थी. वह बच्ची का कोई भी काम नहीं करती थी. परिवार के दूसरे लोग ही उसका ध्यान रखते थे. बताया जा रहा है कि स्वाति शुरुआत से ही बेटा चाहती थी. लेकिन उसे बेटा पैदा हो गया जिसकी वजह से वह काफी परेशान थी. नया मोबाइल मिलते ही उसने बच्ची को मारने के तरीके देखे. उसके बाद पानी की हौद में डुबाकर बच्ची को मार दिया.

मां ने मासूम बेटी को उतारा मौत के घाट

उज्जैन के एएसपी आकाश भूरिया ने बताया कि उनके पास महिला के खिलाफ पर्याप्त सबूत मौजूद हैं. सबूतों से साफ पता चलता है कि 3 महीने की मासूम वीरति की हत्या मां स्वाति ने ही की है. उन्होंने बताया कि सबूतों के आधार पर ही स्वाति को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया है. हालांकि वह यब सबूत सार्वजनिक नहीं कर सकते.

बताया जा रहा है कि 7 अक्टूबर को स्वाति के पति ने उसे नया मोबाइल लाकर दिया था. जिसके बाद उसने बच्ची को मारने के तरीके सर्च करने शुरू कर दिए.12 अक्टूबर को मौका मिलते ही उसने बच्ची का पानी के हौद में डुबा दिया. जिससे उसकी मौत हो गई. शातिर महिला यह सर्च कर रही थी कि बच्ची को कैसे मारा जाए जिससे उसके शरीर पर एक भी निशान न दिखे.