जो भैंसा था अपने मालिक की आन बान और शान – पटक पटक कर उसी ने ले ली जान – सींग में अटका था शव, पास जाने से हर कोई रहा था डर, गोलियां दागकर करना पड़ा कातिल भैंसे का मर्डर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

मंदसौर / मध्यप्रदेश:  मंदसौर जिले में एक दिल दहलाने वाला हादसा हुआ. यहां एक  भैंसे  ने अपने ही मालिक को पटक पटक कर मार डाला. भैंसा पागल हो गया था. मालिक कमल सिंह की लाश सींग में फंस गयी थी. हारकर भैंसे को भी गोली मारकर उसका काम तमाम किया गया तब मालिक की लाश निकल पायी.  इस पूरे वाकये के बाद घटनास्थल पर रोंगटे खड़े कर देने वाला दृश्य था. ये घटना मंदसौर जिले के सुवासरा थाना क्षेत्र के तरनोद गांव की है. यहां एक पागल भैंसे ने अपने मालिक को सींग मार मार कर मौत के घाट उतार दिया. बाद में पागल हुए भैंसे को भी गोली मार दी गई. मंदसौर जिले के तरनोद गांव में रहने वाले कमल सिंह इस हादसे के शिकार हुए. उन्होंने अपने घर पर बड़े प्यार से भैंसा पाला था. लेकिन पिछले कुछ दिन से वो उग्र हो गया था. वो गांव वालों के साथ घरवालों पर भी हमला करने लगा था. लेकिन उस वक्त हद हो गयी जब उसने अपने ही मालिक को मार डाला.

पानी पिलाते वक्त जमीन पर पटका
घटना वाले दिन मालिक कमल सिंह रोज की तरह अपने भैंसे को पानी पिलाने गया. लेकिन भैंसे ने पानी पीने के बजाए उस पर हमला कर दिया. कमल सिंह संभल पाता उससे पहले ही भैंसा पूरे जोर से झपटा और कमल सिंह को अपने सींगों से उठाकर जोर से जमीन पर पटक दिया. कमल सिंह की वहीं मौके पर ही मौत हो गई. भैंसा इतने रौद्र रूप में था कि वो मौत के बाद भी कमल सिंह को नहीं छोड़ रहा था. गांव वालों ने बताया कि कमल सिंह की मौत होने के बाद भी भैंसा उसके शव को बार-बार सीगों में फंसाकर जमीन पर पटकता रहा. कमल का शव उसके सींगों में फंस गया था.

भैंसे को मारी पांच गोलियां
भैंसा इस कदर भड़का हुआ था कि किसी को भी पास नहीं फटकने दे रहा था. लोग भी उसका रूप देखकर डर गए थे कि जब वो मालिक को नहीं बख्श रहा तो बाकी का क्या करेगा. हारकर गांव वालों ने भैंसे को ही मारने का फैसला किया. तय हुआ कि उसे गोली मार दी जाए. भैंसे को पांच गोलियां मारी गयीं और उसकी भी मौत हो गयी. तब कमल सिंह के शव को उसके सींगों में से निकाला जा सका.

500 रुपये ने ले ली जान

जानकारी मिली है कि कमल सिंह इस भैंसे को बेच रहा था. उसका सौदा 25 हजार में तय हो रहा था. लेकिन कमल सिंह इसकी 25,500 रुपये मांग रहा था. सिर्फ 500 रुपये के पीछे सौदा नहीं पटा और भैंसा कमल सिंह के पास ही बना रहा. यही भैंसा उसके लिए यमराज बन गया. घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची आगे की कार्रवाई की.