झारखंड में जल्द  शुरू होगी 3 लाख पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया ! इन विभागों मे हैं पद खाली

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

रांची. झारखंड सरकार ने घोषणा की है कि कोरोना के बाद प्रदेश में रोजगार के अनेकों अवसर उत्पन्न होने वाले हैं. इसी क्रम में प्रदेश की हेमंत सोरेन सरकार ने 31 अक्तूबर से पहले सभी विभाग नियुक्ति, सेवा शर्त से जुड़ी नियमावलियों की विसंगतियां दूर कर बहाली के लिए विज्ञापन प्रकाशित करने के निर्देश दिए हैं. बता दें कि राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में अभी तीन लाख के करीब पद खाली हैं. इनमें सबसे ज्यादा 16 सौ पद ग्रामीण विकास विभाग में रिक्त हैं. उसके बाद श्रम नियोजन, प्रशिक्षण एव कौंशल विभाग में 900 पद अभी खाली हैं. इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग में 750, कल्याण विभाग में 500, उत्पाद विभाग में 500, महिला बाल विकास में 350 पद खाली. इसके अलावा दर्जनों ऐसे विभाग हैं जिनमें एक सौ से ऊपर के पद खाली हैं.

श्रम नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग में 900 पद, कल्याण विभाग में 500 पद, कार्मिक विभाग में 250, उद्योग विभाग में 100, खाद्य आपूर्ति विभाग में 250 पथ निर्माण में 150 अभियंताओं के पद, जल संसाधन में 200, ग्रामीण विकास विभाग में 1600 पद रिक्त हैं. इसी तरह परिवहन विभाग में 100, उत्पाद एवं मद्य निषेध 500, महिला एवं बाल विकास विभाग में 350 और स्वास्थ्य विभाग में 750 पद खाली हैं.

बता दें कि वर्ग तीन और चार से संबंधित नियुक्तियों के संबंध में कार्मिक, प्रशासनिक सुधार और राजभाषा विभाग के आलोक में नियमावली में जो संशोधन किए गए हैं, उसका अनुपालन हर हाल में सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं. यह इसलिए कि इससे राज्य के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा अवसर मिलेगा और विभिन्न विभागों में रिक्त पद भरा जा सकेंगे. हाल में ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कार्मिक, प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग, अन्य सभी विभाग, जेपीएससी एवं जेएसएससी आपस में समन्वय कर बहाली में तेजी लाने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि किसी भी विभाग की ओर से भर्तियों को लंबित न रहने दिया जाए. सीएम ने यह कहा है कि सरकार की मंशा है कि ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार मिले और नियुक्ति प्रक्रिया किसी भी स्तर पर लंबित नहीं रहे.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने यह भी कहा था कि सभी विभागों में लंबित नियुक्ति प्रक्रियाओं को एक निश्चित समय सीमा के अंतर्गत हर हाल में पूरा कर लिया जाए. इसके लिए एक बेहतर प्लान बनाकर कार्य किए जाएं, जिससे तय समय में नियुक्ति प्रक्रिया पूरी की जा सके.