सता रहा है सीएम न बनने का दुख ! पढ़िये क्या बोले हरक सिंह रावत…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून। उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि कांग्रेस के लिए वह बागी हो सकते हैं, लेकिन भाजपा के लिए वह लोकतंत्र के रक्षक हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को उनके भाजपा में आने पर इतनी परेशानी है, तो वह तभी कह देते जब वह भाजपा में आ रहे थे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कम मेहनत कर भाग्य की रोटी खाते हैं। कुछ लोग ज्यादा मेहनत करते हैं, लेकिन उन्हें अपेक्षित स्थान नहीं मिलता।

डिफेंस कालोनी स्थित आवास में गुरुवार को पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने यहां सबसे मुलाकात की। उन्होंने अगले 15 दिनों के संभावित घटनाक्रम के बारे में जो बयान दिया, वह संभवतया प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के दौरे के मद्देनजर दिया होगा। उन्होंने कहा कि इस दौरान बड़ी संख्या में लोग भाजपा से जुड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें राजनीति करते हुए 40 साल हो गए हैं। हरक के मुताबिक उन्होंने देखा है कि कुछ लोग भाग्य की रोटी खाते हैं। उनके भाग्य ने उनका इतना साथ नहीं दिया, जितना दूसरों के भाग्य ने दिया।

त्रिवेंद्र सिंह रावत 2002 में पहली बार चुनाव जीते और 2017 में मुख्यमंत्री बने। पुष्कर सिंह धामी 2012 में चुनाव जीते और 10 साल में मुख्यमंत्री बन गए। सभी ने मेहनत की लेकिन भाग्य का साथ कुछ को ही मिला। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा विजय बहुगुणा की तारीफ करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिसकी मुंह से तारीफ कम निकलती है, वह किसी की तारीफ करे तो अच्छा लगता है। आज विजय बहुगुणा की तारीफ की है, हो सकता है कि कल मेरी भी करेंगे।