कोई मांगता है खाना तो कोई रोता है, कई दैवीय और चमत्कारिक पौधे धरती पर हैं, जानिए इनके बारे में

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

न्यूज डेस्क: कई अजीबोगरीब चीजें धरती पर पाई जाती हैं। आज तक वैज्ञानिक भी इनके रहस्य के बारे में पता नहीं लगा पाए हैं।  जिन्हें दैवीय और चमत्कारिक माना जाता है धरती पर कई ऐसे पेड़ और पौधे हैं। जो रोते हैं, खाने मांगते हैं कई ऐसे पेड़ और पौधे हैं और अपने से चलकर दूसरे स्थान पर पहुंच जाते हैं। कोई साधारण पौधा यह काम नहीं कर सकता है ऐसे काम तो चमात्कारिक पौधे ही कर सकते हैं। करीब पेड़ और पौधों की दुनियाभर में 4 लाख प्रजातियां हैं। इनमें से कुछ पौधे बिल्कुल अलग हैं। चलिए जानते हैं ऐसे ही चमत्कारिक पेड़ पौधें के बारे में…

पौधे से निकलता है पानी

यहां पर रहने वाले आदिवासियों को जब पानी नहीं मिलता है, तो वे इस पौधे से निकलने वाले पानी से अपनी प्यास बुझाते हैं। भारत के अंडमान निकोबार में एक अनोखा पौधा पाया जाता है जिसका नाम केलेमस अंडमानिक्स है। इस पौधे के जड़ से पानी निकलता है जो पीने लायक होता है। तो बाओब के पेड़ की ऊंचाई करीब 80 मीटर होती है जो अफ्रीका में पाए जाते है और उम्र हजारों साल होती है। इस पेड़ का आकार बोतल की तरह होता है। इस पेड़ में बड़ी मात्रा में पानी जमा होता है।

पौधे से निकलती है रोशनी

मशरूम की कुछ ऐसी प्रजातिया पाई जाती हैं  जिनसे कई रंग की रोशनी निकलती है।  वहीं कई ऐसे पौधे हैं जिनके तने से रिसने वाला पानी रात के अंधेरे में चमकता है। धरती पर कई ऐसे पौधे हैं जिनसे अंधरे में रोशनी निकलती है, तो वैज्ञानिकों का मानना है कि इनमें एंजाइम और ऑक्सीजन के केमिकल रिएक्शन करते हैं जिसकी वजह से इनमें से रंग-बिरंगे प्रकाश निकलते हैं।

शर्माने वाले पौधे

यह पौधा इंसान के छूने से शर्माता है और अपनी पत्तियों को सिकोड़ लेता है। अभी तक आपने तो सुना होगा कि इंसान या जानवर शर्माते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि पौधे भी शर्माते हैं। यह किसी के संपर्क में आने से हट जाता है जिसकी वजह से पत्तियां तुरंत मुरझा जाती हैं। जी हां पौधे भी शर्माते हैं। इस शर्मीले पौधे का नाम लाजवंती है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, इन पौधों की पत्तियों में एक खास तरह का तरल पदार्थ भरा होता है।

रोते हैं और खाना मांगते हैं पौधे

वैज्ञानिक बताते हैं जब इन पौधों को पानी या किसी अन्य चीज की आवश्यकता होती है, तो ये आवाज देते हैं। धरती पर भूमध्य सागर के इलाके में एक मेंड्रेक नाम का पौधा पाया जाता है। लेकिन यह अल्ट्रसोनिक वेव्स होती हैं और इसकी पिच अधिक होती है जिसकी वजह से इंसान इसे सुन नहीं सकते।इस पौधे की बनावट इंसानों से मिलती है। इन पौधों को अगर काटा जाता है, तो ये रोते हैं।

चलने वाले पौधे

इन विशाल पेड़ का नाम मैनग्रेव है जो धीरे-धीरे चलकर हजारों किलोमीटर दूर तक चले जाते हैं। इस धरती पर ऐसे भी पेड़ पाए जाते हैं, जो चलते फिरते हैं। यह पौधे खारे पानी या दलदली क्षेत्र में उगते हैं। इनके पैर नहीं होते, लेकिन यह फैलाव की वजह से कई किमी को कवर कर लेते हैं। यह पौधे भारत के सुंदरवन में मिलते हैं।