June 22, 2024 1:08 am

ब्लड डोनेशन से शरीर को मिलते है ये 7 हेल्दी पंच ! जानें ब्लड डोनर को खून देने से मिलने वाले अद्भुत फायदे

न्यूज़ डेस्क: भारत में रक्तदान का प्रबन्धन सरकारी एवं गैर-सरकारी संगठनों द्वारा किया जाता है। योग्य लोग ब्लड बैंक या कैम्प में जाकर स्वेच्छा से रक्तदान कर सकते हैं, इसके बाद रक्त की जांच कर इसे बाद में इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित रख लिया जाता है। इस रक्त का उपयोग सर्जरी, कैंसर के उपचार, रक्त विकारों एवं दुर्घटनाओं के मामले में किया जाता है। भारत में रक्त की आपूर्ति बहुत कम है, लोगों को रक्त दान के लिए प्रोत्साहित करने के लिए नियमित रूप से रक्तदान अभियान चलाए जाते हैं। 2022 में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक भारत में रक्त दान कर सकने वाले लोगों की संख्या 402 मिलियन थी।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

जेपी हॉस्पिटल के डिपार्टमेन्ट ऑफ ट्रांसफ्यूज़न मेडिसिन एण्ड मॉलीक्यूलर बायोलोजी, डायरेक्टर, डॉ प्रशांत पाण्डेय का कहना है कि एक अध्ययन में पाया गया कि रक्तदान की आपूर्ति प्रति हज़ार पर 33.8 थी, जबकि मांग 36.3 थी। ऐसे में देश में सालाना एक मिलियन रक्त की युनिट्स कम पड़ती हैं। खासतौर पर दूर-दराज के इलाकों में रक्त सुरक्षा का अभाव है। इसका मुख्य कारण है कि लोग रक्तदान के बारे में जागरुक नहीं हैं, कई स्थानों पर इसे उचित नहीं माना जाता है।

रक्तदान बहुत फायदेमंद

नेशनल ब्लड ट्रांसफ्यूज़न काउन्सिल और नेशनल एड्स कंट्रोल ओर्गेनाइज़ेशन मुख्य सरकारी संगठन हैं जो भारत में रक्त सुरक्षा और रक्ताधान सेवाओं के लिए जिम्मेदार हैं। रक्त दान के ढेरों फायदे हैं। यह न सिर्फ रक्त पाने के लिए बल्कि दान करने वाले के लिए भी फायदेमंद है। यहां हम रक्तदान के कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं।

डोनर के लिए फायदे

1-आयरन लेवल रहता है ठीक

नियमित रूप से रक्तदान करने से शरीर में आयरन का स्तर ठीक बना रहता है। दिल की बीमारियों, विशेष प्रकार के कैंसर जैसे लिवर कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

2-जिंदगियां बचाता है

कई मरीजों के इलाज के दौरान उन्हें रक्त देना जरूरी होता है। गंभीर दुर्घटनाओं के मामले में, गर्भावस्था की जटिलता के दौरान महिलाओं को रक्त की ज़रूरत होती है। रक्त दान के द्वारा इन मरीज़ों को नया जीवन दिया जा सकता है।

3-संतोष की भावना

रक्त दान करने से आपके मन में संतोष की भावना आती है, आप महसूस करते हैं कि आपने किसी को जीवन जीवन में मदद की है। इससे आपके मानसिक स्वास्थ्य पर अच्छा असरपड़ता है।

4-रक्त प्रवाह बेहतर होता है

रक्तदान करने से शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है औेर आपके स्वास्थ्य में सुधार आता है।

5-निःशुल्क स्वास्थ्य जांच

रक्त जांच से पहले आपकी निःशुल्क शारीरिक जांच की जाती है, आपका ब्लड प्रेशर, हीमोग्लोबिन, पल्स आदि जांचे जाते है। इससे भावी स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में पता चल जाता है। आप अपने स्वास्थ्य के बारे में जागरुक बनते हैं।

6-समुदा का निर्माण होता है

रक्त दान लोगों को एक दूसरे के साथ जोड़ता है, सामुदायिक भावना को बढ़ावा देता है, खासतौर पर जब ऐसे रक्त दान अभियान सामुदायिक आयोजनों के रूप में चलाए जाते हैं। इससे एकजुटता, टीम वर्क और समाज कल्याण की गतिविधियों को बढ़ावा मिलता है।

7-आयरन का ओवरलोड कम होता है

नियमित रूप से रक्तदान करने से शरीर में आयरन का ओवरलोड कम होता है, जो स्वास्थ्य के लिए जोखिम हो सकता है। आयरन ओवरलोड से लिवर एवं दिल की बीमारियों तथा कई अन्य बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है।

अन्य लोगों को भी रक्त दान के लिए प्रोत्साहित करनाः रक्तदान देकर आप अन्य लोगों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करते हैं, इससे रक्त की आपूर्ति को बढ़ाने में मदद मिलती है। लोगों को ज़रूरत के समय रक्त मिलना आसान हो जाता है। कुल मिलाकर, रक्तदान दूसरों की मदद करने का सुरक्षित तरीका है। इससे न सिर्फ आपके स्वास्थ्य में भी सुधार आता है बल्कि समाज पर भी सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न होता है।