May 29, 2024 8:33 am

पत्नी का आईकार्ड लेकर मतदान केंद्र पर ड्यूटी कर रहे थे फर्जी BLO, पुलिस ने तीन लोगों पर दर्ज की FIR

संभल: यूपी के संभल जिले में वोटिंग वाले दिन (7 मई) मतदान केंद्र पर बीएलओ (BLO) पत्नियों की जगह बैठकर ड्यूटी करने वाले तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है. पुलिस ने अपनी-अपनी पत्नियों की जगह बैठकर वोटर पर्चियां बांटने वाले तीन पतियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ किया है.

दरअसल, संभल में 7 मई को मतदान वाले दिन आचार्य मुक्तेश हकीम रईस इंटर कॉलेज और महर्षि दयानंद सरस्वती बाल विद्या मंदिर मतदान केंद्रों पर तीन महिला BLO की जगह उनके पति ड्यूटी करके मतदान केंद्र पर लोगों को वोटर पर्ची बांट रहे थे. संभल के महर्षि दयानंद सरस्वती मतदान केंद्र पर महिला बीएलओ रेशमा की जगह उनके पति जियाउल हक अपने गले में पत्नी का आईकार्ड डालकर ड्यूटी रहे थे. दूसरी महिला बीएलओ उषा रानी की जगह पर उके पति अनूप कुमार ड्यूटी करते पाए गए. वहीं, आचार्य मुक्तेश हकीम रईस इंटर कॉलेज के मतदान केंद्र के पास महिला बीएलओ वाजीदा तबस्सुम की जगह उनके पति हिफजुर्रहमान अपने गले में पत्नी का आईकार्ड डालकर ड्यूटी कर रहे थे.

पुलिस को महिला बीएलओ की जगह उनके पति के द्वारा ड्यूटी करने की जानकारी मिली तो अधिकारी मौके पर पहुंच गए और उनसे पूछताछ की. जिसपर तीन लोगों के अपनी पत्नी की जगह ड्यूटी करने की बात सही निकली. जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने मामले की गंभीरता को देखते हुए बीएलओ की जगह ड्यूटी करने वाले उनके पतियों से वोटर पर्चियां ले लीं और उन्हें मतदान केंद्र से बाहर कर दिया.

जिसके बाद संभल सदर कोतवाली पुलिस ने एकता चौकी प्रभारी जितेंद्र कुमार की तहरीर के आधार पर मतदान केंद्रों पर महिला बीएलओ की जगह ड्यूटी करने वाले तीन लोगों पर एफआईआर दर्ज कर ली.

मामले में सीओ अनुज चौधरी ने कहा कि 7 मई को संभल में मतदान की प्रक्रिया के दौरान मतदान केंद्रों के बाद वोटर पर्ची बांटने वाले लोगों को चेक किया गया तो गले में महिलाओ के आईकार्ड डालकर ड्यूटी की जा रही थी. जब उनसे पूछताछ की गई तो जानकारी मिली कि वह कार्ड उनकी पत्नी का है. जिसमें बीएलओ रेशमा के पति जिया उल हक, उषा रानी के पति अनूप कुमार और वाजिदा तबस्सुम के पति हिफजुर्रहमान शामिल थे.

सफाई में तीनों लोगों ने अपनी पत्नियों के बीमार होने की बात कही. लेकिन यह काम पूरी तरह से गैरकानूनी था, इसलिए तीनों लोगों को ले जाकर थाने में बैठाया गया और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया. मामला इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है.