May 29, 2024 7:43 am

अखिलेश के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस मे खड़गे का बड़ा बयान, कहा – हम दोबारा बन जाएंगे गुलाम’, अखिलेश को भी सुनें: Video

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बुधवार को इंडिया अलायंस की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान खड़गे ने देश के लोकतंत्र और संविधान को बचाने पर जोर दिया.

उन्होंने कहा कि मैंने अपने 53 साल के करियर में ऐसा पहले कभी नहीं देखा कि इतनी पार्टियां एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं. 26 पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ रही हैं. आप सोचिए कि लोग सरकार से कितने नाराज हैं. ये चुनाव इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि ये देश के भविष्य को बचाने वाला चुनाव है. हमारी आगे की पीढ़ी को सुरक्षित रखने और हमारे हक और हुकूक की हिफाजत करने वाला चुनाव है. ये चुनाव समाज के कमजोर वर्ग के तबकों के आरक्षण की हिफाजत करने वाला चुनाव है और यही हमारा फर्ज है क्योंकि संविधान बचा तो ये अधिकार बचेंगे.

खड़गे ने कहा कि हम सभी को मिलकर देश के भविष्य, लोकतंत्र और संविधान को बचाना चाहिए. अगर ऐसा नहीं होगा तो हम दोबारा गुलाम बन जाएंगे. अगर लोकतंत्र ही नहीं है, तानाशाही है तो कहां से अपनी विचारधारा को वोट डालेंगे.

उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेताओं को बीजेपी के लोग नामांकन करने से रोक रहे हैं. हमारे पोलिंग एजेंट को भी डरा-धमका रहे हैं. मैंने हैदराबाद में देखा कि बीजेपी की एक महिला उम्मीदवार मुस्लिम महिलाओं का बुर्का उठा-उठाकर पहचान कर रही हैं. क्या ऐसी स्थिति में चुनाव होता है? लोगों को डरा-डराकर चुनाव कराया जाता है? लेकिन फिर भी हम लड़ रहे हैं, एक होकर आगे बढ़ रहे हैं. हमारी रिपोर्ट्स बताती है कि इन चार चरणों में हुए चुनावों में हमारा गठबंधन आगे है और बीजेपी पीछे है.

इस दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि चौथे चरण का चुनाव खत्म हो गया है. बीजेपी का झूठ जितना पहाड़ चढ़ना था, चढ़ चुका, अब उतरना शुरू हो गया है. बीजेपी अपने ही झूठे दावों में फंस गई है.

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी 400 पार तो दूर 140 सीटों के लिए भी तरस जाएगी. बीजेपी हर लोकसभा क्षेत्र में ढाई लाख वोट से हार रहे हैं. जन समर्थन INDIA अलायंस के लिए जनता में दिखाई दे रहा है, आने वाले समय में 140 करोड़ की जनता उनको 140 सीटों पर समेट देगी.